एप्पल को एक और झटका, क्वालकॉम को देनी होगी 3.16 करोड़ रुपए की पनैल्टी

  • एप्पल को एक और झटका, क्वालकॉम को देनी होगी 3.16 करोड़ रुपए की पनैल्टी
You Are HereTop Stories
Sunday, March 17, 2019-10:46 AM

गैजेट डैस्क : गलत तरीके से क्वालकॉम की टैक्नोलॉजी का उपयोग करने पर एप्पल को बड़ा झटका लगा है। दो हफ्तों तक ट्रायल चलने के बाद ज्यूरी (न्यायपीठ) ने क्वालकॉम के पक्ष में फैसला सुनाया है। कैलीफोर्नियां के एक शहर सैन डियागो की न्यायपीठ ने एप्पल को आदेश देते हुए कहा है कि वह क्वालकॉम को 31.6 मिलियन (लगभग 3 करोड़ 16 लाख रुपए) जुर्माने के तौर पर अदा करे। 

क्या था पूरा मामला

क्वालकॉम ने एप्पल के खिलाफ यह मुकद्दमा वर्ष 2017 में दायर किया था। क्वालकॉम ने कहा था कि जिस टैक्नोलॉजी के जरिए आईफोन तेजी से इंटरनैट से कनैक्ट होते हैं यह पेटैंट क्वालकॉम का है। इसके अलावा आईफोन की बैटरी एफिशिएंसी और ग्राफिक्स परफॉर्मैंस को बढिया करने वाली तकनीक का पेटैंट भी क्वालकॉम का ही है। 

PunjabKesari

इन आईफोन मॉडल्स में किया गया क्वालकॉम के पेटैंट्स का उपयोग

क्वालकॉम की तकनीक का उपयोग एप्पल आईफोन्स की एफिशिएंसी को बेहतर बनाने और कीमत को कम करने के लिए करती थी। क्वालकॉम के पेटैंट्स के जरिए ही एप्पल ने iPhone 7, 8 और X का निर्माण किया है। लेकिन लेटैस्ट मॉडल्स में क्वालकॉम के पेटैंट्स का उपयोग नहीं हुआ है। 

इन कारणों को लेकर हारी एप्पल

एप्पल ने अर्जुन शिव नाम के एक इंजीनियर का तर्क देते हुए कहा कि पहले वे एप्पल के लिए काम करते थे और उन्होंने इस टैक्नोलॉजी को बनाने में काफी मदद की है। इसके बाद अर्जुन शिव जोकि अब गूगल के कर्मचारी हैं, ने अंतत: सैन डियागो परीक्षण में गवाही नहीं देने का विकल्प चुना जिसके बाद ज्यूरी ने एप्पल के तर्क को ठुकरा दिया और क्वालकॉम के पक्ष में फैसला सुना दिया। 

PunjabKesariएप्पल ने दी प्रतिक्रिया

इस फैसले पर एप्पल के प्रवक्ता जोश रोसेनस्टॉक ने अपनी स्टेटमैंट में कहा है कि जबकि हम इस परिणाम से निराश हैं, फिर भी हम इस केस को लेकर अपनी सेवा देने के लिए ज्यूरी का शुक्रिया अदा करते हैं।

क्वालकॉम का बयान

क्वालकॉम के जनरल कौंसुल व कार्पोरेट सैक्रेटरी डॉन रोसेनबर्ग ने कहा है कि पेटैंट का उल्लंघन करने पर पूरी दुनिया के सामने एप्पल के खिलाफ यह हमारी जीत है। एप्पल ने हमारी टैक्नोलॉजी का बिना भुगतान किए उपयोग किया है जिस पर हमारे एक्शन के बाद हमारी जीत हुई है। क्वालकॉम की तकनीक ही मुख्य कारण था कि एप्पल मार्कीट में इतनी जल्दी सफल हो पाई है। 

PunjabKesari

इस फैसले से क्वालकॉम को होगा काफी फायदा

इस अहम फैसले से चिप निर्माता कम्पनी क्वालकॉम को काफी फायदा होगा क्योंकि उनकी टैक्नोलॉजी को ही एप्पल ने अपने आईफोन में देकर मार्कीट में नाम बनाया है। लेकिन असल में आईफोन के तेजी से नैटवर्क के साथ कनैक्ट होने के पीछे का कारण क्वालकॉम की आधुनिक टैक्नोलॉजी वाला पेटैंट है। माना जा रहा है कि अपनी टैक्नोलॉजी को लेकर जीत के बाद आने वाले समय में क्वालकॉम को पूरी दुनिया में काफी प्राथमिकता मिलने वाली है।
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh