पावर बैंक के कारण फ्लाइट पकड़ने में हो सकती है देरी

  • पावर बैंक के कारण फ्लाइट पकड़ने में हो सकती है देरी
You Are HereElectronics
Thursday, October 12, 2017-5:49 PM

जालंधर : अगर आप भी यात्रा के दौरान पावर बैंक का उपयोग करते हैं तो यह खबर आपके लिए है। जेब या बैग में पावर बैंक लेकर दिल्ली एयरपोर्ट से यात्रा करने पर अब आपको देर भी लग सकती है। अगर आपके पास घटिया क्वालिटी का पावरबैंक है तो एयर पोर्ट पर स्कैनिंग के दौरान IED (इम्प्रोवाइज़ड एक्पलोसिव डिवाइस) में यह बोम्ब डिटैक्ट होगा जिससे आपको यात्रा के लिए 15 से 20 मिनट तक रुकना पड़ेगा। आपको बता दें कि स्कैनिंग के दौरान नकली पावर बैंक की तस्वीरें अलग तरह की शो हो रही हैं जिसके बाद बॉम्ब स्क्वॉड द्वारा बैग की चेकिंग की जाती है और पावर बैंक को जब्त करने के बाद ही यात्री को वहां से जाने दिया जाता है। 

 

दिल्ली में सिक्योरिटी मैनेज करने वाली सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स ने जानकारी देते हुए बताया है कि काफी दिनों से हमने एक दर्जन से ज्यादा मुसाफिरों की जेब व बैग में पावर बैंक्स का पता लगाया है जिस वजह से मुसाफिर और सिक्योरिटी दोनों को काफी परेशानी से जूझना पड़ा है। 

 

CISF ऑफिशियल ने बताया है कि कुछ पावर बैंक्स को क्ले और ऐसे ही किसी मटीरियल से बनाया जाता है लेकिन इनकी स्कैनिंग के दौरान बॉम्ब का इम्प्रैशन शो होने लगता है। वहीं अच्छी क्वालिटी के पावर बैंक्स में इस तरह की कोई भी समस्या नहीं देखी गई है। हम ऐसा कुछ भी डिटैक्ट होने पर बिना चैकिंग के मुसाफिर को आगे नहीं जाने दे सकते। 

 

इस पर दिल्ली पुलिस ने बताया है कि मामले की जांच करने के बाद पता चला है कि यह पावर बैंक्स सड़क के साइड में लगे स्टाल से ही खरीदे जा रहे हैं। CISF ने कहा है कि इस यूटिलटी आईटम को बैन नहीं किया गया है। लेकिन संदिग्ध आईटिम का शक होने पर बैग की दो बार जांच की जाए। इनके बैग में होने पर आग भी लग सकती है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !