TESLA ने बनाया दुनिया का सबसे बड़ा Li-ion बैटरी स्टोरेज सिस्टम

  • TESLA ने बनाया दुनिया का सबसे बड़ा Li-ion बैटरी स्टोरेज सिस्टम
You Are HereLatest News
Sunday, November 26, 2017-10:57 AM

एक साथ 30,000 घरों में पूरी करेगा बिजली की जरूरत

 

जालंधर : नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए अमरीकी इलैक्ट्रिक वाहन निर्माता कम्पनी टैस्ला ने दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में दुनिया का सबसे बड़ा Li-ion बैटरी स्टोरेज सिस्टम इंस्टाल कर एक नया रिकार्ड बना दिया है। टैस्ला के मुताबिक जरूरत पडने पर इससे 30,000 घरों में बिजली की जरूरत को पूरा किया जा सकेगा। कम्पनी के सी.ई.ओ. एलन मस्क ने बताया है कि इसे बनाने में 50 मिलियन डॉलर्स का खर्च आएगा और टैस्ट करने के बाद इसे इस्तेमाल करना शुरू कर दिया जाएगा। 


समय सीमा में पूरा होगा यह प्रोजैक्ट
कम्पनी के सी.ई.ओ. एलन मस्क ने 29 सितम्बर को कॉन्ट्रैक्ट साइन करते हुए कहा था कि अब से ही इसे बनाने का कार्य शुरू हो गया है और इसे 100 दिनों में शुरू कर दिया जाएगा। 45 दिनों के बाद खींची गई इस तस्वीर में टैस्ला पावर पैक्स को इंस्टॉल कर दिखाया गया है। बताए गए 100 दिनों में अगर वीकैंड को गिना न जाए तो टैस्टिंग समेत इसे 99 दिनों में शुरू किया जा सकता है। 

PunjabKesari
 

शुरू होगी टैस्टिंग  
कम्पनी अब इस बैटरी पर टैस्टिंग शुरू करेगी। इसमें सोलर और विंड एनर्जी से पैदा की गई पावर को स्टोर किया जाएगा। हवा की गति के कम होने व सूरज के न निकलने पर यह बैटरी स्टोरेज सिस्टम घरों को बैकअप देने के काम आएगा।


नवीकरणीय ऊर्जा को लेकर गम्भीर है दक्षिण आस्ट्रेलिया 
दक्षिण आस्ट्रेलिया के प्रीमियर जे वैदरइल ने बताया है कि टैस्ला पावर पैक्स को साइट पर इंस्टाल करने के बाद होर्न्सडेल फार्म के साथ कनैक्ट कर दिया गया है। अब इस बैटरी स्टोरेज सिस्टम पर यह पता लगाने के लिए परीक्षण किया जा रहा है कि यह आस्ट्रेलियन एनर्जी मार्कीट ऑप्रेटर और साऊथ आस्ट्रेलियन गवर्नमैंट के स्टैंडर्ड को पूरा कर रहा है या नहीं। दुनिया के सबसे बड़े लीथियम आयन बैटरी स्टोरेज सिस्टम को काफी अहम माना जा रहा है। इससे दुनिया भर में यह क्लीयर मैसेज जाता है कि दक्षिण आस्ट्रेलिया नवीकरणीय ऊर्जा और बैटरी स्टोरेज को लेकर सबसे आगे लीड कर रहा है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !