Facebook, google ने तोड़ा कानून- वाशिंगटन के AG ने ठोका मुकदमा

  • Facebook, google ने तोड़ा कानून- वाशिंगटन के AG ने ठोका मुकदमा
You Are HereTop Stories
Tuesday, June 5, 2018-4:01 PM

जालंधरः वाशिंगटन के अटॉर्नी जनरल द्वारा राजनीतिक विज्ञापनों की जानकारी न देने के लिए फेसबुक और गूगल पर केस दायर किया है। the stranger की रिपोर्ट में कहा गया है कि वाशिंगटन राज्य के अटॉर्नी जनरल बॉब फग्र्यूसन ने अाज अमेरिका की सबसे बडी दो कंपनियों फेसबुक और गूगल पर अारोप लगाया है कि उन्होंने लंबे समय से राज्य अभियान के वित्तीय कानूनों का उल्लघंन किया है, जिसके तहत राजनीतिक विज्ञापनों में पारदर्शिता बनाए रखना जरूरी है। स्ट्रेंजर ने कहा है कि मुकदमा दायर करने से पूर्व एक इंटरव्यू में बताया है कि गूगल और फेसबुक कानून का पालन नहीं कर रहें।

 

फग्र्यूसन ने कहा कि जब मैं 6 महीनें पूर्व फेसबुक और गूगल के Seattle कार्यालयों में गया औऱ नम्रता पूवर्क उन्हें एक पत्र देकर दोनेों कंपनियों से कहा कि वे वाशिंगटन राज्यों में चुनावों को प्रभावित करने के लिए और राजनीतिक विज्ञापनो का विवरण बताएं जो उन्होंने बेचे है। उन्होंने कहा कि किसी निजी व्यक्ति का अधिकार है कि वे सीटल और वाशिंगटन राज्य से सूचना प्राप्त कर सकता है, जो कंपनियों द्वारा महत्वपूर्ण  है। 

 

इसके अलावा उन्होंने कहा कि राजनीतिक विज्ञापन स्थानीय चुनावों के मध्य नजर प्रसारित किए गए थे। इन कानूनों के अनुसार फेसबुक और गूगल जैसी कंपनियों को अनुरोध करने पर जानकारी देना जरूरी है। राजनीतिक विज्ञापन सेवा जो उन्होंने उपलब्ध करवाई है उसके साथ ही प्रत्येक राज्य की लागत और खरीददारी पर विशेष सूचना उपलब्ध करवाना बहुत जरूरी है। लेकिन फग्र्यूसन ने King County सुप्रीम कोर्ट में अाज याचिका दायर की, जिसकी माँग वह पिछले 6 महीनें से कर रहा है।उन्होंने कहा मगर फेसबुक या गूगल ने  the stranger को वह जानकारी उपलब्ध करा दी है जो मुझे स्थानीय विज्ञापनों पर चाहिए थी। 

 

फग्र्यूसन ने कहा कि वाशिंगटन राज्य में हम कुछ भी नहीं बता सकते क्योंकि राज्यों पर खरीददारी में हम पारदर्शिता अपनाते है। टीवी पर विज्ञापनों में हम पारदर्शिता उसमें नहीं अपनाते जब यह विज्ञापन फेसुबक या गूगल पर अाते है यह ठीक नहीं।फग्र्यूसन ने कहा कि मुकदमें के दौरान कंपनियों पर भारी जुर्माना करना चाहिए। कानून के अनुसार अभियान व्यक्ति के नियमों के प्रति उल्लघंन करने पर 10 हजार डॉलर का जुर्माना किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ये कंपनियां पिछले 5 वर्षों से राज्य कानूनों का पालन करनें में विफल रही है। पिछले वर्ष ही सीटल शहर के न्यूज पर चुनावों में लगभग 650 राजनीतिक विज्ञापन फेसबुक पर खर्चे गए थे। इसके बाद फग्र्यूसन ने कहा कि फेसबुक और गूगल पर अब उनके राजनीतिक राज्य जांच का सारा खर्चा डाला जाए और मुकदमें का खर्चा भी उन्हीं से लिया जाएं। 
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!