अब सिर्फ 10 मिनट में साधारण साइकिल को ई-बाइक में बदल सकेंगे आप

  • अब सिर्फ 10 मिनट में साधारण साइकिल को ई-बाइक में बदल सकेंगे आप
You Are HereLatest News
Tuesday, June 5, 2018-12:08 PM

- पहाड़ी रास्ते पर साइकिल चढ़ाने में भी होगी आसानी

जालंधर: इन गर्मियों के दिनों में अगर आप साइकिल पर ऑफिस जा रहे हैं व काम शुरू करने से पहले ही पसीने से लथपथ हो रहे हैं तो आपके लिए एक समाधान निकाला गया है। यूनाइटिड किंगडम की कम्पनी रैवोलुशन वक्र्स ने ऐसा रीवोस सिस्टम बनाया है जो 10 मिनट में आपके साधारण साइकिल को ई-बाइक में बदल देगा। आपको बस अपने साइकिल पर इसके साथ दिए गए तीन उपकरणों ड्राइव यूनिट, पैडल असिस्ट सैंसर व बैटरी को लगाना होगा जिसके बाद आप बिना पैडल चलाए भी साइकिल पर सफर का आनंद उठा सकेंगे। माना जा रहा है कि यह तकनीक पहाड़ी रास्ते पर साइकिल चढ़ाने में भी काफी मदद करेगी। 

PunjabKesari

 

सिस्टम में लगी 250 वाट की मोटर

इस सिस्टम में 250 वाट की एल्यूमीनियम अलॉय से तैयार की गई मोटर लगी है  जिसे रोलर के जरिए रियर टायर के साथ कनैक्ट करना पड़ता है। यह रोलर साइकिल के रियर टायर को घुमाता है। वहीं इसके बैटरी होल्डर को साइकिल में बनाई गई बॉटल होल्डर की जगह पर फिट किया जाता है। इस ड्राइव सिस्टम का उपयोग करने के लिए आपको पैडल रिवर्स यानी पीछे की ओर घुमाने होंगे जिसके बाद यह एक्टिवेट हो जाएगा वहीं आगे की ओर घुमाने पर इसे बंद किया जा सकता है। कम्पनी के डायरैक्टर मार्क पालमर ने कहा है कि इस ड्राइव यूनिट व मोटर कन्ट्रोलर को बेहतर सकारात्मक अनुभव प्रदान करने के लिए बनाया गया है। यह काफी छोटा ड्राइव सिस्टम है जो सफर के दौरान काफी मदद करता है और अब लोग कार को पार्क करने की बजाय इस सिस्टम को अपनाना पसंद करेंगे।

PunjabKesari

 

25 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार

इसे कम्पनी ने दो Li-ion बैटरी ऑप्शन्स में उपलब्ध करने की जानकारी दी है। इनमें से एक 100 Wh क्षमता से लैस होगी वहीं लम्बी दूरी तक सफर तय करने के लिए 209 Wh क्षमता वाला बैटरी पैक दिया जाएगा। दोनों बैटरियों से साइकिल को 25 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलाया जा सकता है। उम्मीद की जा रही है कि इसे अक्तूबर के महीने तक उपलब्ध किया जाएगा। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन