भविष्य में आरोग्य सेतु एप का ई-पास के तौर पर भी किया जा सकेगा इस्तेमाल: रिपोर्ट

  • भविष्य में आरोग्य सेतु एप का ई-पास के तौर पर भी किया जा सकेगा इस्तेमाल: रिपोर्ट
You Are HereGadgets
Sunday, April 12, 2020-6:00 PM

गैजेट डैस्क: कोरोना के संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए भारत सरकार ने कुछ दिन पहले ही आरोग्य सेतु एप को लॉन्च किया है। अब तक इस एप को महज एक सप्ताह में दो करोड़ से अधिक लोगों ने डाउनलोड कर लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना के खिलाफ भारत की लड़ाई में आरोग्य सेतु एप एक जरूरी हथियार है। ऐसे में इस एप का इस्तेमाल कहीं आने जाने के लिए ई-पास के तौर पर भी किया जा सकता है।

  • आपको बता दें कि पिछले दिनों भारत सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए Aarogya Setu एप को लॉन्च किया था। आइये जानते हैं कैसे यह एप कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने में सरकार और जनता की मदद कर रही है।

लोकेशन से जुड़ी जानकारी को करेगी एक्सैस

यह एक कोरोना वायरस ट्रैकिंग एप है जिसमें लोकेशन डाटा और ब्लूटुथ के जरिए यूजर को यह बताया जाता है कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति के संपर्क में 6 फीट के दायरे में आया है या नहीं। यह जानकारी आप तक पहुंचाने के लिए ये एप कोरोना वायरस संक्रमण से पीड़ित लोगों के डाटाबेस को चेक करती है।

डाटा सेफ्टी का भी रखा गया ख्याल

कोरोना वायरस टेस्ट अगर किसी व्यक्ति का पॉजिटिव आया है और आप उसके संपर्क में आए हैं तो यह आपके डाटा को सरकार के साथ शेयर करती है, ताकि संक्रमित व्यक्ति का जल्द-से-जल्द इलाज शुरू हो सके।

  • इस एप में यूजर की प्राइवेसी का पूरा ध्यान रखा गया है और इसीलिए डाटा को किसी थर्ड पार्टी एप के साथ शेयर नहीं किया गया है।

अन्य कई फीचर्स से भी भरपूर है ये एप

Aarogya Setu एप में और भी कई फीचर्स दिए गए है। इस एप में चैटबॉट की मदद से आप कोरोना वायरस के लक्षण को पहचान सकते हैं। इसके अलावा यह एप हेल्थ मिनिस्ट्री के अपडेट्स और भारत के हर राज्यों के कोरोना वायरस हेल्प लाइन नंबर की लिस्ट भी शो करती है, जिससे आपको काफी सुविधा रहेगी।

 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Latest News

Popular News