प्रीपेड प्लान समाप्त होने के बाद airtel देगा केवल इतने दिनों की इनकमिंग वैलिडिटी

  • प्रीपेड प्लान समाप्त होने के बाद airtel देगा केवल इतने दिनों की इनकमिंग वैलिडिटी
You Are HereTop Stories
Tuesday, July 30, 2019-4:38 PM

गैजेट डेस्क : एयरटेल ने बिना एक्टिव प्लान के एयरटेल प्रीपेड यूजर्स के लिए इनकमिंग वॉयस कॉल की वैधता कम कर दी है। एक रिपोर्ट के अनुसार वैधता पहले 15 दिनों की थी, लेकिन अब इसे घटाकर सात दिन कर दिया गया है।

 

एयरटेल ने पिछले साल लाइफटाइम फ्री इनकमिंग कॉल योजना का अंत किया था और इसके कुछ मौजूदा रिचार्ज विकल्पों को 'न्यूनतम एआरपीयू' पैक के साथ बदलकर 'स्मार्ट रिचार्ज' प्लान की शुरुआत की थी। कई टेलीकॉम ऑपरेटर अपने एवरेज रेवेन्यू प्रति यूजर (ARPU) को बेहतर बनाने और अपने सब्सक्राइबर बेस से न चुकाने वाले सब्सक्राइबर्स की देनदारी को कम करने के लिए यह कदम उठा रहे हैं। 


एयरटेल ने इनकमिंग वैलिडिटी पर बदली पॉलिसी 

 

PunjabKesari

 

एयरटेल ने एक एक्टिव प्लान के बिना प्रीपेड कस्टमर्स के लिए अपनी इनकमिंगवॉयस कॉल वैधता की पॉलिसी को संशोधित किया है। यदि एक प्रीपेड यूज़र का प्रीपेड प्लान समाप्त हो गया है तो एयरटेल ने पहले यूज़र को एक्सपायरी डेट से 15 दिनों के भीतर इनकमिंग कॉल प्राप्त करने की अनुमति दी थी। जिसके बाद यूज़र के लिए किसी प्लान में रिचार्ज करने तक इनकमिंग कॉल को रोक दिया जाता था। रिपोर्ट में कहा गया है कि अब यह सीमा घटाकर सात दिन कर दी गई है। यदि कोई एयरटेल यूज़र वैधता की समाप्ति पर रिचार्ज करने में विफल रहता है और किसी भी एक्टिव प्लान पर नहीं है, तो आउटगोइंग कॉल तुरंत रोक दी जाएगी और सात दिनों के बाद इनकमिंग कॉल सेवा भी बंद हो जाएगी। 

 

कंपनी को ARPU में बढ़ोतरी की उम्मीद 

 

PunjabKesari

 

हाल की एक रिपोर्ट बताती है कि मार्किट में रिलायंस जियो के प्रवेश के बाद से एयरटेल अपने ARPU के औसत राजस्व को बढ़ाने के लिए चल रही लड़ाई में 7 करोड़ ग्राहकों को खो सकता है। बड़ी संख्या में इनएक्टिव कनेक्शन के कारण एयरटेल को अपने एआरपीयू में तेजी से गिरावट का सामना करना पड़ रहा है, और एक्सपायरी के बाद ग्राहकों को साथ दिनों में रिचार्ज करने की शर्त लागू होने के बाद कंपनी को अपने एवरेज रेवेन्यू पैर यूज़र में तेज़ी की उम्मीद है। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Harsh Pandey