चीन के पहले साइबर dissident को इस कारण मिली 12 साल की सजा

  • चीन के पहले साइबर dissident को इस कारण मिली 12 साल की सजा
You Are HereTop Stories
Tuesday, July 30, 2019-5:59 PM

गैजेट डेस्क : सोमवार को चीन की एक अदालत ने देश के पहले "साइबर dissident" को 12 साल की जेल की सजा सुनाई। हुआंग क्यूई नामक आरोपी ने अपनी वेबसाइट के ज़रिये मानवाधिकारों सहित संवेदनशील विषयों पर रिपोर्ट लीक करी थी। 

 

दोषी हुआंग ने "64 तियानवांग" नामक एक वेबसाइट चलाई थी। जिसका नाम 4 जून 1989 को तियानमेन स्क्वायर समर्थक लोकतंत्र प्रदर्शनकारियों पर कार्रवाई के बाद पड़ा। अदालत के रिकॉर्ड के अनुसार, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के 2012 में सत्ता में आने के बाद से किसी साइबर डिसिडेंट को कठोर सज़ा मिलने का यह पहला केस है। 

 

हुआंग क्यूई पर गंभीर आरोप 

 

PunjabKesari

 

दोषी हुआंग क्यूई पर राष्ट्रीय ख़ुफ़िया जानकारी को लीक करने और उसे विदेशी संस्थाओं को प्रदान करने का गंभीर आरोप है। मियांयांग इंटरमीडिएट पीपुल्स कोर्ट ने बयान में कहा कि हुआंग को उसके राजनैतिक अधिकारों से वंचित किया जायेगा। 

 

कोर्ट से मिली सज़ा लेकिन वेबसाइट के लिए मिली था पुरस्कार 

 

PunjabKesari

 

हुआंग क्यूई की वेबसाइट स्थानीय भ्रष्टाचार, मानवाधिकारों के उल्लंघन और अन्य विषयों पर रिपोर्टिंग करती थी जिसेशायद ही कभी चीनी मीडिया में प्रसारित किया गया होगा।फिलहाल उनकी वेबसाइट 64 तियानवांग चीन में ब्लॉक्ड है। 

वेबसाइट को नवंबर 2016 में रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स पुरस्कार दिया गया था। एमनेस्टी इंटरनेशनल के अनुसार इसी कुछ हफ्तों बा, चेंगदू के अपने गृहनगर में हुआंग को हिरासत में लिया गया था।

 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Harsh Pandey