Canada ने बनाए सख्त कानून, बिना रजिस्ट्रेशन अब नहीं उड़ा पाएंगे Drone

  • Canada ने बनाए सख्त कानून, बिना रजिस्ट्रेशन अब नहीं उड़ा पाएंगे Drone
You Are HereLatest News
Tuesday, January 15, 2019-1:49 PM

गैजेट डेस्कः दुनिया भर में ड्रोन बेहद पॉपुलर होते जा रहे हैं और इनका कई तरह के कामों के लिए यूज किया जा रहा है। ड्रोन कई तरह के होते हैं, जिसमें छोटे ड्रोन को रिमोट या मोबाइल फोन से कंट्रोल किया जाता है, वहीं एडवांस ड्रोन जिन्हें Unmaned Aerial Vehicle (UAV) को प्लेन की तरह काफी ऊंचाई पर हजारों किलोमीटर की दूरी तक भी उड़ाया जा सकता है। इनका इस्तेमाल अक्सर मिलिट्री द्वारा किया जाता है। कई देशों ने ड्रोन की उड़ानों को लेकर कानून बनाए हैं, अब कनाडा ने भी ड्रोन उड़ानों को लेकर सख्त नियम बनाए हैं। जानते हैं इसके बारे में...

PunjabKesariक्या हैं नियम
ट्रांसपोर्ट कनाडा के नए नियमों के अनुसार, अब 250 ग्राम से लेकर 25 किलोग्राम के बीच के किसी भी ड्रोन का रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी होगा। इसके साथ ही पायलटों की उम्र कम से कम 14 साल होनी चाहिए। उन्हें कनाडा का नागरिक या स्थायी निवासी होना चाहिए। उन्हें पायलट का सटिर्फिकेट भी हासिल करना होगा, जिसके लिए एक ऑनलाइन परीक्षा देनी होगी। इसके साथ ही डेवलप्ड ड्रोन ऑपरेटर, जो कंट्रोल्ड फ्लाइंग एरिया में उड़ान भरना चाहेंगे, उन्हें भी यह परीक्षा देनी होगी और उड़ान की रिव्यू करनी होगी।

तय की गई उम्र सीमा
नए नियमों के तहत 400 फीट से कम और लाइन ऑफ साइट के भीतर ही उड़ान भरी जा सकती है। इसके अलावा एयरपोर्ट्स के नजदीक, इमरजेंसी जैसी स्थितियां जहां पैदा हो गई हों, वहां उड़ान नहीं भरी जा सकती। ऐसी जगहों के करीब उड़ान भरने के लिए ड्रोन उड़ाने वाले के पास स्पेशल सटिर्फिकेट होना जरूरी होगा। इसके अलावा, कंट्रोल्ड  एयरस्पेस के पास उड़ान भरने वालों की उम्र कम से कम 16 वर्ष होनी चाहिए।

PunjabKesariकब से लागू होंगे नियम
जानकारी के लिए बता दें कि ये नए नियम 1 जून से लागू होंगे और इनका उल्लंघन करने वाले लोगों पर 3,000 डॉलर तक जुर्माना लग सकता है। वहीं, कमर्शियल ड्रोन उड़ानों पर कानून के उल्लंघन की स्थिति में 15,000 डॉलर तक का जुर्माना लग सकता है। कहा जा रहा है कि इन नियमों से फिल्म इंडस्ट्री, न्यूज इंडस्ट्री और दूसरे बिजनेस आउटलेट्स पर असर पड़ सकता है। आपको बता दें कि इस समय बहुत ही विकसित ड्रोन बनने लगे हैं और इनके बढ़ते इस्तेमाल को देखते हुए रूल्स और रेग्युलेशन्स बनाने की जरूरत सामने आ गई है। वहीं ड्रोन का इस्तेमाल पहली बार फर्स्ट वर्ल्ड वॉर के दौरान आस्ट्रिया ने वेनिस पर बम बरसाने के लिए किया था। 


 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Jeevan