चीन की टैक कम्पनियों को चेतावनी, US ट्रेड बैन का समर्थन किया तो भुगतने होंगे परिणाम!

  • चीन की टैक कम्पनियों को चेतावनी, US ट्रेड बैन का समर्थन किया तो भुगतने होंगे परिणाम!
You Are HereLatest News
Sunday, June 9, 2019-5:14 PM

गैजेट डैस्क : अमरीका द्वारा हुवावेई कम्पनी पर ट्रेड बैन लगाने के बाद टैक कम्पनियों ने अमरीका के इस फैसले का समर्थन किया था। ऐसे में बौखलाए चीन ने टैक कम्पनियों को अब चेतावनी दे डाली है। चीन का कहना है कि अगर टैक्नोलॉजी कम्पनियां US ट्रेड बैन का समर्थन करती हैं या कर रही हैं तो उन्हें अनचाहे भयंकर परिणाम भुगतने होंगे।

  • द न्यू यॉक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक चीनी अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि टैक्नोलॉजी कम्पनियां अगर ट्रम्प प्रशासन द्वारा व्यापार प्रतिबंध का सहयोग करती हैं तो उन्हें प्रतिशोध का सामना करना पड़ेगा। 

PunjabKesari

चीन में हुई सरकारी उच्च अधिकारियों की बैठक

द वर्ज की रिपोर्ट के मुताबिक इस फैसले को चीन में हुई उच्च अधिकारियों की एक बैठक के दौरान लिया गया है। इस बैठक में चीन के राष्ट्रीय विकास और सुधार आयोग के सदस्यों को शामिल किया गया था वहीं इस बैठक में मनिस्ट्री ऑफ कमर्स व मनिस्ट्री ऑफ इंडस्ट्री और इनफोर्मेशन टैक्नोलॉजी के सदस्य भी मौजूद थे जिन्होंने साथ मिल कर यह फैंसला लिया। 

असमंजस में फंसी टैक कम्पनियां

अमरीका द्वारा चीनी कम्पनी हुवावेई पर ट्रेड बैन लगने के बाद टैक कम्पनियां असमंजस में फंस गई हैं। अगर अमरीका-चीन व्यापार से जुड़ा यह युद्ध आगे बढ़ता है तो टेक फर्म एक अस्थिर स्थिति में जा सकती है। 

PunjabKesari

इस कारण बौखलाया चीन

आपको बता दें कि अमरीकी कम्पनियां अपने प्रोडक्ट की प्रोडक्शन चीन में कर रहीं हैं जिन्होंने अब अपने प्रोडक्ट्स की प्रोडक्शन को धीरे-धीरे अन्य देशों में स्थानांतरित करना शुरू कर दिया है। इसी वजह से बौखलाया चीन अब कम्पनियों को चेतावनी दे रहा है। 

क्या चाहती हैं टैक कम्पनियां 

अमरीकी टैक कम्पनियां खतरों को नजरअंदाज नहीं कर सकती हैं। टैक कम्पनियों को लग रहा है कि चीन तकनीकी व्यवसायों के भाग्य को खतरे में डाल सकता है। ऐसे में कंपनियां कानून तौड़ कर कानूनी परेशानी नहीं उठाना चाहती हैं।

PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh