अवैध तरीके से ड्रोन उड़ाना अब पड़ेगा महंगा, उड़ रहे ड्रोन को आसानी से पकड़ेगा ड्रोनकैचर

  • अवैध तरीके से ड्रोन उड़ाना अब पड़ेगा महंगा, उड़ रहे ड्रोन को आसानी से पकड़ेगा ड्रोनकैचर
You Are HereLatest News
Thursday, June 21, 2018-11:09 AM

जालंधर : दुनिया भर में ऐसी कई जगहें हैं जहां ड्रोन्स को उड़ाने पर पाबंदी लगाई गई है। हवाई अड्डे, जेल और सैन्य अड्डे पर लोगों को कमर्शियल ड्रोन उड़ाने की अनुमति नहीं है, लेकिन फिर भी इन जगहों पर लोग घुसपैठ करते हैं। इसी बात पर ध्यान देते हुए एक ऐसा ड्रोनकैचर बनाया गया है जो उड़ रहे ड्रोन पर जाल डाल कर उसे आसानी से पकडने में मदद करेगा। इसे डच की स्टार्टअप कम्पनी डैलफ्ट डायनामिक्स द्वारा बनाया गया है। 

 

ड्रोन डिटैक्शन सिस्टम

ड्रोनकैचर को ड्रोन डिटैक्शन सिस्टम से बनाया गया है। इसमें गिम्बल, इमेज ट्रैकिंग कैमरा और लेज़र रेंज फाइंडर लगा है जो उड़ रहे ड्रोन को डिटैक्ट कर नैट गन से जाल फैंक कर 20 मीटर (लगभग 66 फुट) से आसानी से पकडने में मदद करता है। 

PunjabKesari

 

30 मिनट तक उड़ान भरने की क्षमता

इसके जरिए अधिकतम 6 किलोग्राम वजन को उठा कर उड़ान भरी जा सकती है। वहीं इसमें खास बैटरी लगी है जिसे एक बार चार्ज कर इसे 30 मिनट तक उड़ाया जा सकता है। उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही इसे दुनिया के कुछ हिस्सों में उपलब्ध किया जाएगा। 

 

PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh