Facebook पर लग सकता है $500bn का जुर्माना, यूजर्स का बायोमेट्रिक डेटा इकट्ठा करने का आरोप

  • Facebook पर लग सकता है  $500bn का जुर्माना, यूजर्स का बायोमेट्रिक डेटा इकट्ठा करने का आरोप
You Are HereGadgets
Thursday, August 13, 2020-1:49 PM

गैजेट डैस्क: फेसबुक पर अमेरिका में बायोमेट्रिक डेटा इकट्ठा करने के आरोप में 500 बिलीयन डॉलर्स तक का जुर्माना लग सकता है। अमेरिका में फेसबुक पर एक मुकदमा दायर किया गया है जिसमें दावा किया जा रहा है कि फेसबुक की सब कंपनी इंस्टाग्राम द्वारा यूजर्स की इजाजत के बिना उनका बायोमेट्रिक डेटा इकट्ठा किया गया है। ऐसा करने पर फेसबुक ने कानून का उल्लंघन किया है ऐसे में कंपनी को अब 500 बिलीयन डॉलर्स तक का भारी जुर्माना चुकाना पड़ा सकता है। 

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक कैलिफोर्निया में स्थित रेडवुड सिटी की कोर्ट में सोमवार को यह मुकदमा दर्ज किया गया है। 

इस मुकदमे में क्या किया गया दावा

दायर किए गए इस मुकदमे में इंस्टाग्राम पर आरोप लगाया गया है कि कंपनी ऑटोमैटिकली लोगों के चेहरे को स्कैन करती है। इस दौरान उन लोगों के चेहरे भी स्कैन किए गए हैं जो किसी दूसरे के इंस्टाराम के अकाउंट में दिख रहे थे। ऐसे में इंस्टाग्राम के पास उन लोगों का डेटा भी मौजूद है जोकि कंपनी की प्लैटफोर्म टर्म्स को एग्री नहीं करते हैं। इस दौरान 100 मिलीयन लोगों के डेटा को इकट्ठा किया गया, स्टोर किया गया और प्रोफिट कमाने के लिए इनका इस्तेमाल किया गया है। 

इंस्टाग्राम ने डेटा इक्ठा करनी की बात को स्वीकारा

इंस्टाराम पर आरोप है कि उसने फोटो-टैगिंग टूल के जरिए लोगों की पहचान करने के लिए फेशियल रिकॉग्निशन तकनीक का इस्तेमाल किया है। इंस्टाग्राम ने भी स्वीकार किया है कि कंपनी इस फीचर का इस्तेमाल कर रही थी, लेकिन कंपनी का कहना है कि उन्होंने डेटा को स्पैशल प्रोटैक्शन दी है। यूजर्स की इजाजत के बाद ही कंपनी ने उनसे इस तरह का डेटा लिया है। 

इस मुद्दे पर क्या कहना है फेसबुक का

डेलीमेल को दी गई अपनी रिपोर्ट में फेसबुक के ने बताया कि "मुकदमा निराधार है", इंस्टाग्राम फेसबुक पर दी जा रही फेस रिकग्निशन सेवाओं का उपयोग नहीं करती है।

आपको बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब फेसबुक पर फेशियल रिकॉग्निशन के जरिए डेटा इकट्ठा करने को लेकर मुकदमा दायर किया गया है। पुछले महीने फेसबुक ने 650 मिलीयन डॉल्स देकर एक मुकदमा सैटल किया है, जिस पर कंपनी पर आरोप था कि उसने अमेरिकी स्टेट इलिनोइस के डाटा कलेक्शन रूल्स का उल्लंघन किया है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Latest News

Popular News