रोजाना 10 लाख अकाउंट डिलीट कर रहा है Facebook, कहीं आपसे भी तो नहीं हुई ये गलती

  • रोजाना 10 लाख अकाउंट डिलीट कर रहा है Facebook, कहीं आपसे भी तो नहीं हुई ये गलती
You Are HereGadgets
Tuesday, April 9, 2019-3:46 PM

गैजेट डेस्कः फेसबुक इन दिनों रोजाना 10 लाख अकाउंट डिलीट या ब्लॉक कर रहा है।  चुनाव को देखते हुए फेक न्यूज को रोकने के लिए कंपनी ये कदम उठा रही है। अगर आपने भी किसी गलत जानकारी को शेयर किया है तो आपका भी अकाउंट डिलीट या ब्लॉक हो सकता है। फेसबुक इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर अजीत मोहन ने इस संबंध में जानकारी देते हुए  बतााय कि फेसबुक फर्जी अकाउंट की पहचान कर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) और मशीन लर्निंग (एमएल) की मदद से अकाउंट डिलीट या ब्लॉक कर रहा है। फेसबुक की तरफ से चुनाव को देखते हुए फेक न्यूज को रोकने के लिए ये कदम उठाया जा रहा है।


40 लोगों की होगी टीम
अजीत मोहन ने कहा कि भारत में होने वाला लोकसभा चुनाव को निष्पक्ष और पारदर्शिता के साथ हो, इसके लिए हम पिछले 18 महीने से इस पर काम कर रहे हैं और इसके लिए दर्जनों लोगों की टीम लगाई गई है। यह 40 लोगों की एक टीम है जिसमें डेटा साइंस एक्सपर्ट, धमकियों को समझने वाले लोग, अनुवादक, लीगल एक्सपर्ट्स और रिसर्च से जुड़े लोग शामिल होते हैं। ये सेंटर्स कंपनी में करीब 30,000 से ज्यादा कंटेट मॉडरेटर्स की मदद से चलाए जा रहे हैं। ऑपरेशन सेंटर्स द्वारा गलत जानकारी, हेट स्पीच, वोटर को लुभाने के तरीके, डॉक्टर्ड विडियो और सबसे जरूरी विदेशी हस्तक्षेप पर नजर रखी जा रही है।

PunjabKesari
गौरतलब है कि  बीते दिनों फेसबुक ने कांग्रेस की आईटी सेल से जुड़े 687 पेज और अकाउंट हटा दिए थे। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नमो ऐप से जुड़ी कंपनी सिल्वर टच के 15 पेजों को भी हटा दिया गया था। इन अकाउंट्स और पेजों पर फेक न्यूज या कंटेंट के चलते नहीं बल्कि अप्रामाणिक व्यवहार के चलते कार्रवाई की गई थी।  

PunjabKesari
चुनाव को लेकर फेसबुक सख्त
लोकसभा चुनाव को लेकर फेसबुक काफी सख्त है और कड़े नियमों को तैयार कर रहा है। वोटों के देखते हुए कंपनी खास फीचर कैंडिडेट कनेक्ट' फीचर भी लाई है।  इसका इस्तेमाल कर आप अपने लोकसभा क्षेत्र के उम्मीदवारों के बारे में जान सकते हैं। इसके लिए आपको सेटिंग्स में एक बुकमार्क से या फिर न्यूजफीड में एक मैसेज से ऐक्सेस किया जा सकेगा। इसमें 20 सेकंड के एक वीडियो में कैंडिडेट वोटर्स को अपना परिचय दे पाएंगे और बताएंगे कि चुनाव जीतने पर वे अपने क्षेत्र की समस्याएं कैसे दूर करेंगे या उनकी वर्क स्ट्रेटजी क्या होगी।इसके अलावा यह फीचर लोगों को पोलिंग की जानकारी देगा। 

मतदाताओं के लिए पेश किया 'शेयर यू वोटेड" फीचर
कंपनी ने हाल ही में मतदाताओं के 'शेयर यू वोटेड" फीचर की भी शुरुआत की है। फेसबुक के अनुसार इसका मकसद सोशल मीडिया यूजर्स को मतदान मे भाग लेने के लिए प्रेरित करना है जिसमें यूजर्स वोट करने के बाद अपनी तस्वीर शेयर कर सकेंगे और फेसबुक उन्हें एग्रिगेट कर एक एक कोलाज बनाएगा जिसमें फ्रेंडलिस्ट में शामिल उन दोस्तों की भी फोटो होगी जिन्होंने वोट किया है। इसके बाद यूजर्स उसे वीडियो के फॉर्मेट में शेयर कर सकेंगे। कंपनी का कहना है कि यह दोनों ही टूल 12 भारतीय भाषाओं में अवेलेबल होंगे।

PunjabKesari

सोशल मीडिया भी चुनाव को लेकर तैयार
सोशल मीडिया साइट ने चुनाव को लेकर डीटेल्ड प्लानिंग की है और रणनीति तैयार की है, इसमें फेसबुक के अलावा कंपनी की वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम जैसी ऐप्स भी शामिल हैं। तैयारी के लिए फेसबुक ने केवल राजधानी दिल्ली के पावर कॉरिडोर्स तक ही नहीं बल्कि अलग-अलग भाषाएं बोलने वाले ग्रामीण भारत को भी समझने की कोशिश की है और जागरूकता फैला रहा है। इसकी मदद से फेसबुक कमजोर इंटरनेट की पहुंच वाले क्षेत्रों के हिसाब से प्रॉडक्ट फीचर्स में बदलाव कर सकता है। 

 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Isha