खतरनाक हो सकती है फेशियल रिकग्निशन तकनीक : माइक्रोसॉफ्ट

  • खतरनाक हो सकती है फेशियल रिकग्निशन तकनीक : माइक्रोसॉफ्ट
You Are HereLatest News
Sunday, July 15, 2018-1:18 PM

जालंधर- अाज के समय में फेशियल रिकग्निशन तकनीक का इस्तेमाल कई डिवाइसिस में किया जा रहा है। वहीं माइक्रोसॉफ्ट ने अमरीकी संसद से अपील की है कि वह चेहरा पहचानने की इस तकनीक के इस्तेमाल को नियम-कानून के दायरे में लाएं ताकि लोगों की निजता और अभिव्यक्ति की आजादी को बचाया जा सके। कंपनी के अधिकारी ब्रैड स्मिथ ने शनिवार को एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि इस मामले में सरकार को विशेषज्ञ आयोग का गठन करना चाहिए। स्मिथ ने कहा कि कुछ व्यापारिक समूहों के लिए चेहरा पहचानने से जुड़ा काम करने वाली माइक्रोसॉफ्ट पहले ही कुछ ग्राहकों के ऐसे अनुरोध खारिज कर चुकी है जिसमें 'मानवाधिकारों के जोखिम' संबंधी स्थितियों में तकनीक के इस्तेमाल की गुजारिश की गई थी।

 

PunjabKesari

 

स्मिथ ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि आप कल्पना करें कि कोई सरकार आपकी एक-एक गतिविधि पर नजर रखे कि आप बिना इजाजत कहां-कहां गए। आप उस डाटाबेस की भी कल्पना कर सकते हैं जिसमें वह सबकुछ दर्ज होगा कि किस राजनीतिक रैली में आपने क्या-क्या बोला।  इससे आपकी अभिव्यक्ति की आजादी भी खतरे में पड़ सकती है।

 

PunjabKesari

 

इसके अलावा स्मिथ ने यह मसला भी उठाया कि जब आप किसी शॉपिंग मॉल में खरीदारी करते हैं, तो कौन-कौन सा सामान खरीदते हैं, किन चीजों में आपकी दिलचस्पी है, शॉप का मालिक बिना बताए आपके चेहरे के मुताबिक आपकी सूचनाएं अपने पास इकट्ठा कर सकता है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Jeevan