स्मार्टफोन की स्क्रीन पर मौजूद हैं कीटाणु, ना चाहते हुए दे रहे बीमारियों को न्योता

  • स्मार्टफोन की स्क्रीन पर मौजूद हैं कीटाणु, ना चाहते हुए दे रहे बीमारियों को न्योता
You Are HereLatest News
Sunday, August 19, 2018-5:14 PM

जालंधर- स्मार्टफोन हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन चुका है और अाज के समय में  इसके बिना रहने की कल्पना करना भी गलत लग रहा है। वहीं एक रिसर्च में पाया गया है कि स्मार्टफोन की स्क्रीन पर आपकी टॉयलेट सीट पर ही सबसे ज्यादा कीटाणु पाए जाते हैं। रिसर्च से पता चला है कि औसत तौर पर मोबाइल पर 10 से 12 प्रकार के बैक्टीरिया होते हैं। जबकि टॉयलेट सीट पर बैक्टीरिया की 3 प्रजातियां पाई जाती हैं।वहीं 35 प्रतिशत लोग ऐसे हैं जो अपने स्मार्टफोन का स्क्रीन कभी साफ नहीं करते हैं। इस रिसर्च का खुलासा इंश्योरेंस2गो ने किया है जोकि इंग्लैंड की एक गैजेट इंश्योरेंस प्रोवाडर कंपनी है।

PunjabKesariटेस्ट 

रिसर्चर्स ने स्मार्टफोन पर कीटाणु को लेकर टेस्ट किया जिसमें आईफोन 6, सैमसंग गैलेक्सी नोट8 और गूगल पिक्सल मौजूद थे। रिसर्च खत्म होने के बाद इस बात का पता चला कि छोटे से छोटे कीटाणु हर स्मार्टफोन की स्क्रीन पर थे।मोबाइल की स्क्रीन पर ई-कोलाइ और फीकल जैसे खतरनाक बैक्टीरिया पाए जाते हैं। रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि अमेरिका में लोग एक दिन में न्यूनतम 47 बार फोन चेक करते हैं। इससे उनके हाथों के कीटाणु मोबाइल पर चले जाते हैं।

PunjabKesariकाफी मात्रा में पाएं गए कीटाणु

तीनों स्मार्टफोन्स पर कुल 254.9 यूनिट पाए गए तो वहीं एक स्क्रीन पर 84.9. इससे इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि आपकी टॉयलेट सीट पर 24 यूनिट कीटाणु होते हैं तो वहीं ऑफिस के कीबोर्ड पर सिर्फ 5 प्रतिशत। इसके अलावा बताया जा रहा है कि 20 में से सिर्फ एक स्मार्टफोन यूजर ऐसा होता है जो अपने स्मार्टफोन का स्क्रीन 6 महीने में एक बार साफ करता है। स्क्रीन पर मौजूद इन कीटाणुओं से स्कीन की परेशानी और दूसरी हेल्थ से जुड़ी हुई दिक्कतें सामने आ सकती है।

PunjabKesariएेसे पनपते हैं कीटाणु

मोबाइल फोन रसोई से लेकर सार्वजनिक परिवहन तक लगभग हर तरह के वातावरण में ले जाए जाते हैं, ऐसे में फोन पर आए पसीने और मैल में ये सूक्ष्मजीव अच्छी तरह पनप जाते हैं। जिससे कई तरह की परेशानियां अा सकती हैं। 

PunjabKesari

 

 

 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Jeevan