खतरे में यूजर्स की प्राइवेसी, इस तरह आपकी निगरानी कर रही गूगल

  • खतरे में यूजर्स की प्राइवेसी, इस तरह आपकी निगरानी कर रही गूगल
You Are HereLatest News
Saturday, July 13, 2019-10:14 AM

गैजेट डैस्क : गूगल की प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर एक बार फिर सवाल खड़े हो गए हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक स्मार्टफोन, होम स्पीकर और सिक्यॉरिटी कैमरों में दिए गए गूगल असिस्टेंट के माध्यम से गूगल के कर्मचारी आपके बेडरूम की सारी बातचीत को गुप्त रूप से सुन रहे हैं। आज हम आपको कुछ ऐसी जानकारी देने वाले हैं जिससे आपको आसानी से पता चलेगा कि गूगल किस तरह आप की निगरानी कर रही है। 

PunjabKesari

एक दिन में आपके बारे में इतना कुछ जुटा लेती है Google

  • ऑफिस जाने के लिए आप करीबी मैट्रो स्टेशन पर पहुंचते हैं इसकी जानकारी गूगल को रहती है।
  • गूगल मैप्स के जरिए आपकी लोकेशन को ट्रैक किया जाता है। 
  • यूजर की सर्च हिस्ट्री गूगल रिकार्ड करती है जिसके बाद आपकी दिलचस्पी का पता लगा कर उसी हिसाब से कंटेंट (खबरें) व विज्ञापन आपको दिखाती है।
  • म्यूजिक एप्स की सर्च हिस्ट्री से गूगल इस बात का पता लगा लेती है कि आप कैसे गानें सुनते हैं और उसी हिसाब से आपको विज्ञापन दिखाए जाते हैं।
  • इन सब के अलावा गूगल को यह भी पता होता है कि आप कब दौड़ रहे हैं या किसी गाड़ी में कहीं जा रहे हैं। 

इन चीजों से गूगल कलैक्ट करती है आपका डाटा

  1. Google Pay के पास आपके क्रेडिट और डेबिट कार्ड की जानकारी होने के अलावा आपने इसकी मदद से कौन सा प्रोडक्ट खरीदा है। इसका डाटा भी सेव रहता है। 
  2. आपके ई-मेल को भी गूगल स्कैन करता है।
  3. YouTube वीडियो देखते समय आपकी हिस्ट्री को भी गूगल रिकार्ड करता है और कौन से समय में आप वीडियो देखते हैं यह भी जानकारी गूगल को रहती है। 
  4. गूगल की डाटा कलैक्शन मुहिम में एंड्रॉयड और गूगल क्रोम ब्राउजर भी काफी अहम भूमिका निभाते हैं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh