गूगल ने बनाया Quantum Computer, मिनटों में होगा कई वर्षों का काम

  • गूगल ने बनाया Quantum Computer, मिनटों में होगा कई वर्षों का काम
You Are HereGadgets
Thursday, October 24, 2019-6:20 PM

गैजेट डैस्क: टेक कंपनी गूगल ने कहा है कि उसने क्वांटम कम्यूटिंग के शोध में बड़ी सफलता हासिल की है। शोध के दौरान पता लगा है कि क्वांटम प्रोसेसर की मदद से ऐसे कैल्कुलेशंस केवल कुछ मिनटों में किए जा सकते हैं, जिन्हें सुपर कंप्यूटर की मदद से करने में भी हजारों साल का वक्त लगेगा। गूगल ने इसे क्वांटम सुप्रीमेसी (Quantum Supremacy) नाम दिया है और दावा किया है कि स्पीड के मामले में यह कंप्यूटर दुनिया के किसी भी सुपर कंप्यूटर को पछाड़ देगा। 

  • इससे पहले लीक हुए पेपर्स में कहा गया था कि गूगल का प्रोसेसर उस कैल्कुलेशन को केवल 30 मिनट और 20 सेकेंड में कर सकता है, जिसे करने में दुनिया के सबसे तेज सुपरकंप्यूटर को कम से कम 10,000 साल का वक्त लगेगा।

वैज्ञानिकों का दावा

वैज्ञानिकों ने इस मशीन को लेकर दावा किया है कि यह क्वांटम कंप्यूटर एक सेकेंड में 20,000 लाख करोड़ गणनाएं कर सकता है। प्रयोग के दौरान इस कंप्यूटर ने मात्र 200 सेकेंड में उस गणना को अंजाम दे दिया, जिसे अंजाम देने में पारंपरिक कंप्यूटर को 10,000 साल तक का समय लग जाएगा।

PunjabKesari

यह होगा फायदा

क्वॉन्टम कंप्यूटिंग एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जो बहुत बड़े डाटा व इनफोर्मेशन को बहुत ही कम वक्त में प्रोसैस कर देती है। इस नए प्रोसेसर की मदद से नई दवाओं की खोज से लेकर शहरों की मैनेजमेंट और ट्रांसपोर्ट से जुड़े काम आसानी से हो जाएंगे। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआइ) आधारित टेक्नोलॉजी को भी इस तकनीक की मदद से नई ऊंचाई मिलेगी। इनकी सहायता से बेहतर सोलर पैनल भी बनाए जा सकेंगे। वित्तीय लेनदेन में भी इसकी तेजी का खासा फायदा हो सकेगा। अन्य बड़ी टेक कंपनियां जैसे माइक्रोसॉफ्ट, आईबीएम और इंटेल भी इसी टेक्नॉलजी पर काम कर रही हैं। 

क्यों अहम है क्वांटम कंप्यूटिंग 

मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के कंप्यूटर शोधकर्ता विलियम ओलिवर ने इस अविष्कार के संबंध में कहा कि यह बहुत बड़ी उपलब्धि है और यह वैसी ही है जैसी 20वीं सदी की शुरुआत में राइट ब्रदर्स द्वारा पहला हवाई जहाज बनाया गया था। उनके उस हवाई जहाज से तब किसी समस्या का समाधान नहीं निकला था, न ही उसमें बैठकर कोई कहीं सफर कर सकता था। इसके बावजूद वह उपलब्धि इसलिए बड़ी थी, क्योंकि उसने एक बड़े सपने को साकार किया था। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने भी इस उपलब्धि के लिए अपनी टीम की प्रशंसा की है।

IBM ने गूगल को ठहराया झूठा

आइबीएम के वैज्ञानिकों का इस मामले में कहना है कि जिस गणना में सामान्य सुपर कंप्यूटर को 10,000 साल लगने की बात कही जा रही है, उसमें करीब ढाई साल ही लगेंगे। उन्होंने कहा, 'क्वांटम सुप्रीमेसी का अर्थ है क्वांटम कंप्यूटर वह काम कर सके, जो सामान्य सुपर कंप्यूटर नहीं कर सकते हैं। सुप्रीमेसी इस पैमाने पर खरा नहीं है।' 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh