गूगल के सेंसर चायनीज सर्च इंजन का कर्मचारियों द्वारा विरोध

  • गूगल के सेंसर चायनीज सर्च इंजन का कर्मचारियों द्वारा विरोध
You Are HereLatest News
Friday, August 17, 2018-5:02 AM

जालंधरः गूगल के कर्मचारी कंपनी की तरफ से चीन के लिए सेंसर सर्च इंजन बनाने के काम का विरोध कर रहे हैं। यह खुलासा एक अंग्रेज़ी अखबार ने किया है। खबर के मुताबिक कंपनी के तकरीबन 1000 कर्मचारियों ने इस प्रोजेक्ट की पारदर्शिता और नैतिकता पर सवाल उठाते हुए एक पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। गौरतलब है कि गूगल चीन के लिए एक नए सेंसर सर्च इंजन बनाने पर काम कर रही है। इस काम को गूगल ने अपने कुछ आधिकारियों और कर्मचारियों के अलावा सबसे सीक्रेट रखा था। परन्तु जबकि यह ख़बर मुख्य समाचार में आई है तब से ही इन खबरों का सेक कंपनी और कंपनी के सी.ई.अो. सुंदर पिचाई तक पहुंचना शुरू हो गया है।
PunjabKesariचीन में गूगल सर्च सेंसर है। गूगल ने सन 2010 में मानवीय अधिकारों और नैतिकता का हवाला देकर ख़ुद को चीनी बाज़ार में से हटा लिया था। कंपनी को चीन में अपनी ग़ैर -मौजूदगी चुभ रही है। जिसके कारण अब कंपनी चीन सेंसरशिप कानूनों के मुताबिक एक सर्च एप पर काम कर रही है। जिसके द्वारा कंपनी सबसे बड़े मार्केट में सेंध लगाने की तैयारी में है। ख़ास बात यह है कि इस नए सर्च इंजन के प्रोजक्ट को कंपनी की तरफ से सीक्रेट रखा गया था। जिसको 'ड्रैगनफ़्लाई 'का नाम दिया गया। 
PunjabKesariगूगल के कर्मचारियों द्वारा जिस पत्र पर हस्ताक्षर किए गए हैं, उसमें लिखा गया है कि हमें जल्द ही और ज्यादा पारदर्शिता की जरूरत है। एक मेज़, सीट पर खुल कर काम करने की वच्चनबद्धता: गूगल कर्मचारियों को यह जानने की ज़रूरत है कि हम क्या बना रहे हैं या हम किस प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। कर्मचारियों का मानना है कि लोग सच्ची सूचनाएं शेयर कर लिए गूगल पर भरोसा करते हैं। जबकि चायनीज़ सेंसर सर्च इंजन उनके साथ धोखा होगा। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Pardeep