स्मार्टफोन में लगा फिंगरप्रिंट स्कैनर कैसे करता है आपकी उंगली को स्कैन, जानें

  • स्मार्टफोन में लगा फिंगरप्रिंट स्कैनर कैसे करता है आपकी उंगली को स्कैन, जानें
You Are HereGadgets
Wednesday, February 9, 2022-1:57 PM

गैजेट डेस्क: आज के दौर में ज्यादा तर स्मार्टफोन्स में सिक्योरिटी के लिए फिंगरप्रिंट स्कैनर दिया जाता है, लेकिन क्या आपने गौर किया है कि आखिर स्मार्टफोन में दिया जाने वाला फिंगरप्रिंट स्कैनर आपकी फिंगर को कैसे रीड करता है। अगर नहीं, तो आज हम आपको इसी के बारे में बताने वाले हैं।

स्मार्टफोन में फिंगरप्रिंट को रीड करने के लिए ऑप्टिकल, कैपेसिटिव और अल्ट्रासॉनिक तकनीकों का इस्तेमाल किया जाता है। ऑप्टिकल फिंगरप्रिंट रीडर एक खास तरह के कैमरे की मदद से फिंगरप्रिंट की तस्वीर लेता है और सॉफ्टवेयर को इस तस्वीर को वेरिफिकेशन के लिए भेजता है। यह सॉफ्टवेयर अपके फिंगरप्रिंट की फोटो को कोड में बदलता है। हालांकि, एक तस्वीर के जरिए इसे कोड को बाइपास ना किया जाए इसके लिए एक कैपेसिटिव स्कैनर को भी साथ में जोड़ा जाता है। ये तकनीक इस बात का पता लगाने का काम करती है कि क्या वाकई स्कैनर पर कोई फिंगरप्रिंट है या नहीं?

वहीं एडवांस फिंगरप्रिंट स्कैन करने के लिए अल्ट्रासोनिक फिंगरप्रिंट स्कैनर का भी साथ में सहारा लिया जाता है। इसका इस्तेमाल ज्यादातर मेडिकल क्षेत्र से जुड़े कार्यों के लिए भी होता है। इस तरह यह फिंगरप्रिंट स्कैनर काम करता है और आपके फोन को सुरक्षा प्रदान करता है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh