देश की पहली हाइड्रोजन फ्यूल सेल पैसेंजर कार का हुआ सफलतापूर्वक ट्रायल

  • देश की पहली हाइड्रोजन फ्यूल सेल पैसेंजर कार का हुआ सफलतापूर्वक ट्रायल
You Are HereGadgets
Monday, October 12, 2020-3:53 PM

ऑटो डैस्क: देश की पहली हाइड्रोजन फ्यूल सेल वाली पैसेंजर कार का सफलतापूर्वक ट्रायल कर लिया गया है। इस हाइड्रोजन कार का काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडियन रिसर्च (CSIR) और KPIT टेक्नोलॉजीज़ ने साथ मिल कर ट्रायल किया है। इस 5 सीटर कार के लिए खास तरह के फ्यूल सेल स्टैक डिवैल्प किए गए, जिनकी मदद से हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के बीच में कैमिकल रिएक्शन कराया गया और इससे इलैक्ट्रिकल एनर्जी पैदा हुई। इस दौरान पानी का उत्सर्जन हुआ है जिससे पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं है।

इस तकनीक को तैयार करने में लगे पूरे 4 साल

हाइड्रोजन कार को तैयार कर ट्रायल करने तक पूरे 4 वर्षों का समय लगा है। इसके फ्यूल सेल स्टैक को CSIR-नेशनल केमिकल लैबोरेट्री, पुणे द्वारा बनाया गया है। जानकारी के लिए बता दें कि इस कार में 10 kWe ऑटोमोटिव ग्रिड LT-PEMFC फ्यूल सैल स्टैक टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल हुआ है।

रिपोर्ट के मुताबिक यह 5 सीटर सेडान कार भारतीय सड़कों पर सिंगल हाईड्रोजन फिल साइकल के दौरान 60 से 65 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से 250 किलोमीटर की दूरी तय कर सकती है।

PunjabKesari

कमर्शियल वाहनों में भी इस्तेमाल की जा सकती है यह तकनीक

हालांकि यह माना जा रहा है कि यह तकनीक कमर्शियल वाहन जैसेकि बस, ट्रक के लिए अधिक सूटेबल है। इस पर KPIT, चेयरमैन, रवि पंडित ने कहा कि "इस तकनीक का बहुत बेहतर भविष्य है। यह भारत के लिए एक बहुत महत्वपूर्ण तकनीक है जो प्रदूषण कम कर देगी तथा फोसिल फ्यूल के इम्पोर्ट को कम करने में सहायक होगी।"

देश भर में इलेक्ट्रिक वाहन को बढ़ावा दिया जा रहा है लेकिन अभी भी इन्फ्रास्ट्रक्चर अच्छी नहीं होने की वजह से यह सफल नहीं हो पाए हैं। ऐसे में हाइड्रोजन को एक अच्छा विकल्प माना जा रहा है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Latest News

Popular News