ऑटिज्म की बीमारी का पता लगाएगी यह आईफोन एप्प

  • ऑटिज्म की बीमारी का पता लगाएगी यह आईफोन एप्प
You Are HereLatest News
Sunday, June 3, 2018-4:21 PM

जालंधर- दुनियाभर में अाईफोन का इस्तेमाल किया जाता है और इसमें शामिल एप्स से रोजमर्रा के कई जरुरी काम किए जाते हैं। वहीं शोधकर्ताओं ने जानकारी दी है कि ‘ऑटिज्म एंड बियांड’ एप्प से छोटे बच्चों में ऑटिज्म के लक्षण का पता चल सकता है। ‘ऑटिज्म एंड बियांड’ एप अभिभावकों से पहले एक सहमतिपत्र पर हस्ताक्षर करवाता है और उसके बाद कुछ प्रश्नों के साथ सर्वेक्षण करता है। उसके बाद यह एप्प बताता है कि क्या बच्चे में ऑटिज्म के लक्षण हैं या नहीं।

 

एेसे करती है काम

यह एप्प अाईफोन के सैल्फी कैमरे से काम करती है इसमें बच्चों को कई तरह की मूवी और वीडियो दिखाई जाती है, जिसपर बच्चे के चेहरे पर आई प्रतिक्रिया को रिकार्ड किया जाता है। बच्चे के चेहरे पर आई भावनाओं की जांच की जाती है। इसके बाद बच्चों की प्रतिक्रिया का यह वीडियो शोध के सर्वर में भेजा जाता है, जहां स्वचालित बिहेविरल कोडिंग सॉफ्टवेयर बच्चे के चेहरे और उसकी भावनाओं की समीक्षा करता है।

 

क्या है ऑटिज्म

ऑटिज्म एक तरह का न्यूरोलॉजिकल डिस्ऑर्डर है, जो बातचीत (लिखित और मौखिक) और दूसरे लोगों से व्यवहार करने की क्षमता को सीमित कर देता है। इसे ऑटिस्टिक स्पैक्ट्रम डिस्ऑर्डर कहा जाता है, क्योंकि प्रत्येक बच्चे में इसके लक्षण अलग-अलग देखने को मिलते हैं। ऐसे कुछ बच्चे बहुत जीनियस होते हैं या उनका आईक्यू सामान्य बच्चों की तरह होता है, पर उन्हें बोलने और सामाजिक व्यवहार में परेशानी होती है। कुछ ऐसे भी होते हैं, जिन्हें सीखने-समझने में परेशानी होती है और वे एक ही तरह का व्यवहार बार-बार करते हैं। चूंकि ऑटिस्टिक बच्चों में समानुभूति का अभाव होता है, इसलिए वे दूसरों तक अपनी भावनाएं नहीं पहुंचा पाते या उनके हाव-भाव व संकेतों को समझ नहीं पाते। कुछ बच्चे एक ही तरह का व्यवहार बार-बार करने के कारण थोड़े से बदलाव से ही हाइपर हो जाते हैं।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Popular News