भारत में बढ़ी चाइनीज़ स्मार्टफोन ब्रैंड्स की मुश्किलें, सैमसंग ने वीवो को छोड़ा पीछे

  • भारत में बढ़ी चाइनीज़ स्मार्टफोन ब्रैंड्स की मुश्किलें, सैमसंग ने वीवो को छोड़ा पीछे
You Are HereGadgets
Friday, July 24, 2020-6:16 PM

गैजेट डैस्क: भारत में अब चाइनीज स्मार्टफोन ब्रैंड्स को नुकसान हो रहा है। इनकी मार्केट में हिस्सेदारी अप्रैल-जून तिमाही में गिरकर 72 प्रतिशत हो गई जोकि जनवरी-मार्च में 81 प्रतिशत थी। काउंटरपॉइंट रिसर्च ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि शाओमी, ओप्पो, वीवो और रियलमी जैसे ब्रैंड्स की घटती सप्लाई और यूजर्स के ऐंटी-चाइना सेंटिमेंट्स के कारण ही इनकी बिक्री प्रभावित हुई है।

नॉन-चाइनीज ब्रैंड को मिला अवसर

मार्केट में अब सैमसंग और अन्य भारतीय ब्रैंड्स जैसेकि माइक्रोमैक्स और लावा को बाजार में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने का अच्छा अवसर मिल गया है। इसके अलावा जियो और गूगल की पार्टनरशिप के कारण जल्द ही मार्केट में काफी किफायती एंड्रॉयड 4G स्मार्टफोन्स भी आने वाले हैं। ऐसे में अब चीनी ब्रैंड्स की मुश्किलें और भी बढ़ने वाली हैं।

सैमसंग ने बिक्री के मामले में वीवो को किया पीछे

सैमसंग ने वीवो को पीछे छोड़ते हुए 26 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ दूसरे स्थान पर कब्जा कर लिया है। पहले स्थान पर 29 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ अभी भी शाओमी ही है। वीवो का मार्केट शेयर इस दौरान 17 प्रतिशत रहा। जबकि रियलमी और ओप्पो ने 11 और 9 प्रतिशत की हिस्सेदारी ही दर्ज की है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Popular News