रैस्क्यू मिशन्स में मदद करेगा Rega drone, 100 मीटर ऊंचाई पर पहुंचने की क्षमता

  • रैस्क्यू मिशन्स में मदद करेगा Rega drone, 100 मीटर ऊंचाई पर पहुंचने की क्षमता
You Are HereGadgets
Thursday, April 18, 2019-9:28 AM

गैजेट डैस्क : आज तक आपने एग्रीकल्चर ड्रोन्स के बारे में तो सुना होगा जो खेतों की निगरानी करते हुए कीटनाशक दवा का स्प्रे करने में मदद करते हैं, लेकिन अब एक ऐसे ड्रोन को तैयार कर लिया गया है जो गुमशुदा व्यक्ति का पता लगाने में मदद करेगा। स्विट्जरलैंड की एयर रैस्क्यू ओर्गनाइजेशन Rega ने इस मानव रहित काम करने वाले ड्रोन को तैयार किया है। 

  • इस ड्रोन में तीन रोटर ब्लेड्स लगे हैं जिनकी लम्बाई 2 मीटर (लगभग 6.5 फुट) है। इसे 80 से 100 मीटर (लगभग 262 से 328 फुट) की उंचाई तक उड़ाया जा सकता है। 

ड्रोन में लगे मल्टीपल कैमरे

Rega drone में ऑनबोर्ड सैंसर्स, एक डेलाइट कैमरा, एक थर्मल कैमरा, एक इनफ्रारैड कैमरा और एक फोन ट्रैकिंग टूल को लगाया गया है जिनकी मदद से यह ड्रोन इलाके के बड़े क्षेत्रों को स्कैन करने में सक्षम है। यानी यह पहाड़ों पर मौजूद मुसीबत में फंसे व्यक्ति का आसानी से पता लगा सकता है। 

PunjabKesari

सैटेलाइट नैविगेशन सिस्टम

ड्रोन में सैटेलाइट नैविगेशन सिस्टम को लगाया गया है जो निर्धारित किए गए एरिए पर ड्रोन द्वारा अपने आप निगरानी बनाए रखने में मदद करता है। इसके अलावा इसमें एमरजेंसी पैराशूट की सुविधा भी दी गई है। 

PunjabKesari

एंटी कोलिज़न सिस्टम

उड़ते समय ड्रोन बिजली की तारों में या किसी एयरक्राफ्ट आदि से ना टकरा जाए इसके लिए इसमें एंटी कोलिज़न सिस्टम लगा है। ड्रोन के जरिए किसी भी तरह का हादसा ना हो यही सोच कर इस सिस्टम को शामिल किया गया है। 

PunjabKesari

मिशन्स में किया जाएगा उपयोग

रेगा ड्रोन को असल में  रैस्क्यू क्रयू के साथ रहने व ऑपरेशन के दौरान जमीन से उड़ रहे हैलीकोप्टर तक सहायता व दवा को पहुंचाने के लिए तैयार किया गया है। उम्मीद की जा रही है कि वर्ष 2020 तक इस ट्रोन को उपयोग में लाया जाएगा। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh