रूस में फेशियल रिकग्निशन मॉडल से नींद में रहने वाले ड्राइवर्स पर कसेगी नकेल

  • रूस में फेशियल रिकग्निशन मॉडल से नींद में रहने वाले ड्राइवर्स पर कसेगी नकेल
You Are HereCars
Friday, August 9, 2019-12:33 PM

गैजेट डेस्क : रूस में जल्द ही टैक्सी ड्राइवरों को ब्रेक लेने के लिए मजबूर किया जा सकता है। देश की सबसे बड़ी टैक्सी सेवा Yandex.Taxi, अपने सभी कारों में एक फेशियल रिकग्निशन डिवाइस लगाएगी जो थके हुए ड्राइवरों की पहचान करेगा। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार कंपनी ने पिछले साल उबर के साथ विलय कर दिया, जिससे ड्राइवरों को दोनों ऐप से सवारियों का उपयोग करने की अनुमति मिली।

यह डिवाइस कार की विंडशील्ड पर लगाई जाएगी जिसमें फेशियल रिकग्निशन सॉफ्टवेयर शामिल है। यह एक थके हुए व्यक्ति के संकेतों की पहचान कर सकता है - जिसमें पलके झपकाना , जम्हाई लेना और नींद की मुद्रा में होना शामिल है। एक बार में यह सॉफ्टवेयर 68 फेशियल पॉइंट्स की पहचान कर सकता है।


फेशियल रिकग्निशन मॉडल लागू करने की वजह 

 

PunjabKesari

 

यांडेक्स का यह कदम रूसी सांसदों की मांगों के जवाब में है कि टैक्सी कंपनियां दुर्घटनाओं को रोकने के लिए कम काम करती हैं। अकेले राजधानी मॉस्को ने पिछले साल 764 कार दुर्घटनाओं का सामना किया, जिसमें कुल 23 मौतें हुईं। कई लोगों ने टैक्सी सेवाओं के बढ़ते उपयोग और सड़क के किनारे टकराव में वृद्धि के लिए अधिक टैक्सी कारों की संख्या को दोषी ठहराया।

 

ऑटोमेकरों ने अपने वाहनों में चेहरे की पहचान के समान फेशियल रोगनिशन सॉफ्टवेयर उतारे है। 2019 सुबारू फॉरेस्टर में ड्राइवर फ़ोकस नामक एक ड्राइवर  मॉनिटरिंग सिस्टम शामिल है जो ड्राइवरों में थकान के संकेतों की पहचान कर सकती है। रूस का यह फेशियल रिकग्निशन मॉडल टैक्सी सेवा में बढ़ती असुविधा और सड़क दुर्घटना को रोकने के लिए कारगर साबित होगी। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Harsh Pandey