Snapchat अपने Project Voldemort के ज़रिये फेसबुक की गतिविधियों को कर रहा था ट्रैक

  • Snapchat अपने Project Voldemort के ज़रिये फेसबुक की गतिविधियों को कर रहा था ट्रैक
You Are HereGadgets
Tuesday, September 24, 2019-1:03 PM

गैजेट डेस्क : स्नैपचैट द्वारा प्रचलित सुविधाओं की नकल करने और उन्हें इंस्टाग्राम और उसके अन्य ऐप से जोड़ने के आरोप फेसबुक पर अक्सर लगते रहें हैं।  स्नैपचैट ऐप की मूल कंपनी स्नैप ने "प्रोजेक्ट वोल्डेमॉर्ट" नामक डोजियर में फेसबुक के एंटी-कम्पेटिटिव गतिविधियों पर नज़र रखी।

प्रोजेक्ट वोल्डेमॉर्ट - हैरी पॉटर बुक सीरीज़ में मुख्य विलेन लॉर्ड वोल्डेमॉर्ट पर रखा गया है। द वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस डोजियर में फेसबुक की "हार्डबॉल टैक्टिस" बिज़नेस स्ट्रेटेजी से जुड़ी फाइलें शामिल हैं।


 

प्रोजेक्ट वोल्डेमॉर्ट में फेसबुक के बारे में हुआ खुलासा 

 

Image result for facebook ftc

 

इन टैक्टिस यानी तरकीबो में शामिल था सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर्स को इंस्टाग्राम अकाउंट्स पर स्नैप का उल्लेख करने और स्नैप कंटेंट को इंस्टाग्राम पर ट्रेंड करने से रोका जाना। इससे यह बात स्पष्ट होती है कि स्नैपचैट ने फेसबुक के खिलाफ जाँच में मदद करने के लिए इस प्रोजेक्ट को अंजाम दिया। 

 

कथित तौर पर प्रोजेक्ट वोल्डेमॉर्ट के अंतगर्त फ़ेडरल ट्रेड कमीशन (एफटीसी) द्वारा फ़ेसबुक के एंटी-मार्किट और एंटी-कम्पीटिव बिहेवियर में हुई एंटी-ट्रस्ट जाँच के हिस्से के रूप में सामने आया। एफटीसी इस जांच के हिस्से के रूप में कई वर्तमान और पूर्व फेसबुक कंपटीर्स से साथ बात कर रहा है।

 

Related image

 

फेसबुक ने जुलाई में पुष्टि की थी कि एफटीसी ने कंपनी के खिलाफ एंटी-ट्रस्ट जाँच को शुरू करने जा रहा है। उसी दिन जांच में पता चला था कि एफटीसी ने घोषणा की थी कि वह फेसबुक पर रिकॉर्ड 5 बिलियन डॉलर का जुर्माना लगाएगा। 

 

फेसबुक न सिर्फ FTC की एंटी-ट्रस्ट जांच का सामना किया है बल्कि जून में, एंटीट्रस्ट उपसमिति ने घोषणा की कि वह फेसबुक, गूगल और अन्य तकनीकी कंपनियों की जांच शुरू कर रहा है। कई राज्यों के अटॉर्नी जनरल और अमेरिकी सरकार की एजेंसी भी एंटी-ट्रस्ट जाँच में शामिल हो चुकी हैं। 

 

 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Harsh Pandey