दुनिया की पहली व्हीलचेयर इलेक्ट्रिक कार, दिव्यांगों खुद कर सकेंगे ड्राइव

  • दुनिया की पहली व्हीलचेयर इलेक्ट्रिक कार, दिव्यांगों खुद कर सकेंगे ड्राइव
You Are HereLatest News
Thursday, September 13, 2018-5:41 PM

गैजेट डेस्कः दुनिया भर में नित नये कार्यों पर शोध होता रहता है, इंसानी जरूरत और सुविधाओं के लिए हर मुमकिन कोशिश हो रही है ताकि लोगों के जीवन को सुगम और सार्थक बनाया जा सके। अब तक दिव्यांगों के लिए व्हीलचेयर ही एक मात्र ऐसा साधन था जिसकी मदद से वो एक जगह से दूसरी जगह पर जा सकते थें। लेकिन अब दुनिया तेजी से बदल रही है, हंगरी की केंगुरू नाम की एक कंपनी ने ऐसी कार को पेश किया है​ जिसमें दिव्यांग न केवल अपनी व्हीलचेयर के साथ आसानी से बैठ सकते हैं बल्कि खुद ड्राइव भी कर सकते हैं।
PunjabKesari
सामान्य तौर पर व्हीलचेयर के साथ लोगों को कार में बैठने में भी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। व्हीलचेयर पर बैठा हुआ व्यक्ति पहले से ही लाचार होता है इसके अलावा उसे व्हीलचेयर से उतरने और फिर कार में बैठने के लिए भी दूसरों की मदद की जरूरत पड़ती है। इस दौरान व्हीलचेयर पर बैठने वाले व्यक्ति को भारी पीड़ा से भी गुजरना पड़ता है। वो स्वयं को उठाने के लिए अपने हाथों से बल देकर अपने शरीर को उपर की तरफ उठाता है​ जिसका सीधा असर उसके कंधे पर पड़ता है। ये सब कुछ जितना आसान दिखता है दरअसल उतना आसान होता नहीं है।
PunjabKesari
किसी लाचार व्यक्ति की सबसे बड़ी मजबूरी यही होती है कि वो एक जगह से दूसरी जगह पर आसानी से जा नहीं सकता है। हमारे आस पास कई ऐसे लोग हैं जो कि व्हीलचेयर पर हैं और जब पूरा परिवार कहीं किसी ट्रिप पर जाने की तैयारी कर रहा होता है वो व्हीलचेयर पर बैठा व्यक्ति घर के किसी कोने में एक निर्जीव सामान की तरह पड़ा रहता है। क्योंकि उसे आसानी से कहीं लाया ले जाया नहीं जा सकता है।
PunjabKesari
हालांकि अभी इस कार को भारतीय बाजार में पेश नहीं किया गया है। इस कार की कीमत तकरीबन 25,000 अमेरिकी डॉलर है। चूंकि भारतीय बाजार में अभी इस कार को पेश नहीं किया गया है ऐसे में अभी ये कह पाना मुश्किल है कि यहां पर इस कार की कीमत कितनी होगी। लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं है कि ये कार दिव्यांग लोगों के जीवन को भी बेहतर बनाने में पूरी तरह सहायक है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Isha