WhatsApp पर अब रंग बताएंगे मैसेज असली है या नकली!

  • WhatsApp पर अब रंग बताएंगे मैसेज असली है या नकली!
You Are HereGadgets
Monday, July 30, 2018-6:35 PM

जालंधर- मैसेजिंग एप व्हाट्सएप्प पर फर्जी खबरों को रोकने के लिए कंपनी ने हाल ही एप में कई नए फीचर्स को शामिल करने की घोषणा की है। वहीं दिल्ली के एक संस्थान की टीम एक ऐसी एप बनाने पर काम कर रही है जो WhatsApp पर आसानी से फर्जी खबरों को पकड़ लेगी। इंद्रप्रस्थ इंस्टिट्यूट ऑफ इन्फर्मेशन टेक्नॉलजी, दिल्ली (IIT-D) के कंप्यूटर साइंस के असोसिएट प्रोफेसर पोन्नूरंगम कुमारगुरु की अध्यक्षता में यह टीम बनाई गई है।

टीम के प्रोफेसर ने कहा, 'हम बड़ी मात्रा में डाटा इकठ्ठा कर रहे हैं। हमने लोगों को 9354325700 नंबर पर व्हाट्सएप्प पर आए मेसेज फॉरवर्ड करने के लिए कहा है। हम इन मेसेजेज की जांच करेंगे फिर उसके अनुसार ही ऐसे फर्जी मेसेजेज को रोकने के लिए एक मॉडल तैयार करेंगे।' वहीं टीम के सदस्य ने कहा है कि यह एप आनेवाले कुछ महीनों में तैयार हो जाएगी।
PunjabKesari

एेसे करेगी काम 
प्रोफेसर ने उदाहरण देते हुए बताया कि अगर किसी यूजर को एक मेसेज आता है तो हम ऐसे कलर कोड बनाएंगे जो मेसेज की सत्यता को प्रमाणित करेंगे। अगर एप में हरा रंग होगा इसका मतलब है कि मेसेज सही है। पीले रंग का मतलब सिस्टम इस मेसेज को डीकोड नहीं कर पाया और अगर मेसेज आने पर एप में लाल रंग आया तो यह दिखाएगा कि मेसेज फर्जी या फेक है। 

मेसेज से जुड़े कॉमन फैक्टर्स पर होगा अध्ययन 
उन्होंने आगे कहा, 'मेसेज मिलते ही हम मेसेज से जुड़े कॉमन फैक्टर्स का अध्ययन करेंगे। यह मेसेज में फोटो, कोई लिंक या फिर कोई शब्द हो सकता है। अगर यह फॉरवर्ड किया हुआ मेसेज है तो संभवतया यह फेक मेसेज होगा। 

PunjabKesari

 

हिंसक घटनाएं

व्हाट्सएप्प पर फैली अफवाहों पर देश के कई राज्यों में हिंसा की घटनाएं देखने को मिली हैं। महाराष्ट्र के रैनपाड़ा गांव में व्हाट्सएप्प पर बच्चा चोरी की अफवाह फैली तो गांव की भीड़ ने शक के आधार पर 5 लोगों की हत्या कर दी। वहीं कर्नाटक राज्य में  बिदार में बच्चा चोरी की अफवाह पर भीड़ ने एक शख्स को मार डाला जबकि उसके साथ के 3 लोग बुरी तरह घायल हो गए।

 

PunjabKesari

 

फर्जी खबरों को रोकने के व्हाट्सएप्प द्वारा उठाए कदम 

कंपनी ने व्हाट्सएप्प ने फैलती फर्जी खबरों को को रोकने के लिए कई कड़े कदम उठाए हैं। कंपनी ने एक मेसेज को 5 से ज्यादा बार फॉरवर्ड ना करने वाला फीचर जारी किया था। जिससे माना जा रहा है कि फर्जी खबरों पर लगाम कसी जा सकेगी। 
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Jeevan

Popular News