फेक न्यूज़ के खिलाफ सख्त हुआ WhatsApp, अखबारों में विज्ञापन देकर लोगों से की अपील

  • फेक न्यूज़ के खिलाफ सख्त हुआ WhatsApp, अखबारों में विज्ञापन देकर लोगों से की अपील
You Are HereLatest News
Tuesday, July 10, 2018-2:24 PM

जालंधर- पिछले कुछ दिनों में व्हाट्सएप पर अफवाहों की वजह से कई स्थानों में हिंसक घटनाएं देखने को मिली थी। जिसके बाद अब कंपनी ने अखबारों में विज्ञापन जारी किए हैं और इसमें लोगों को फर्जी संदेश से बचने के 10 टिप्स दिए हैं। कंपनी ने कहा कि इससे लड़ने के लिए टेक्नोलाॅजी कंपनियों, सरकार और समाज को साथ में काम करना होगा और लोगों को इसके बारे में जागरूक करना होगा। बता दें कि केंद्र सरकार ने कंपनी को फर्जी मेसेजों पर लगाम लगाने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए थे। वहीं तकनीकी रूप से व्हाट्सएप क्या बदलाव करने जा रहा है इसकी अभी जानकारी नहीं है लेकिन व्हाट्सएप की तरफ से कहा गया है कि इस हफ्ते वो एक नया फीचर ला रहा है जिससे आपको पता चलेगा कि कौन सा मैसेज फॉरवर्ड किया गया है। अाइए जानते हैं अखबार में दिए गए विज्ञापन के बारे में...

 

PunjabKesari

 

1. फॉरवर्ड मेसेज से रहें सावधान: हम इस सप्ताह से आपके लिए नई विशेषता लेकर आ रहे हैं, जिससे आपको यह पता लगाने में आसानी होगी कि कौन से संदेश फॉरवर्ड + (अग्रेषित) किए गए हैं।अगर आपको फॉरवर्ड संदेश प्राप्त होता है तो इस बात की जांच करें कि क्या उस संदेश में मौजूद तथ्य सच हैं या नहीं।

 

2. ऐसी जानकारी के तथ्यों पर सवाल उठाएं जो आपको परेशान करती है: अगर आप व्हाट्सएप फॉरवर्ड में कुछ ऐसा पढ़ते हैं जिससे आपको क्रोध आता है या डर लगता है, तो यह जानने की कोशिश करें कि क्या उस संदेश का उद्देश्य आपके मन में ऐसी ही भावनाओं को जगाना था? अगर जवाब हां है तो आप उसे दूसरों के साथ साझा न करें और न ही फॉरवर्ड करें।

 

3. परेशान करने वाली जानकारियों की जांच करें:ऐसी घटनाएं या किस्से जिन पर यकीन करना थोड़ा कठिन होता है, ये अक्सर ही सच नहीं होते. ऐसे में किसी अन्य स्त्रोत से पता लगाएं कि जानकारी सच्ची है या नहीं।

 

4 ऐसे संदेशों से बचें जो थोड़े अलग दिखते हैं:अधिकांश ऐसे संदेश जिनमें धोखा या झूठी खबरें होती हैं उनमें गलत वर्तनी का प्रयोग किया जाता है. ऐसे सूचक चिह्नों को ध्यान में रखें ताकि आप पता लगा सकें कि संदेश में निहित जानकारी सच है या नहीं।

 

5.संदेशों में मौजूद फोटो को ध्यान से देखें: फोटो और विडियो पर आसानी से यकीन कर लिया जाता है, लेकिन आपको भ्रमित करने के लिए फोटो और वीडियो को भी संपादित किया जा सकता हैष कभी-कभी फोटो सच्ची होती है, लेकिन उससे जुड़ी कहानी नहीं।

 

6 लिंक की भी जांच करें: ऐसा लग सकता है कि संदेश में मौजूद लिंक किसी परिचित या जानी-मानी साइट का है, लेकिन अगर उसमें गलत वर्तनी या विचित्र वर्ण मौजूद है तो संभव है कि कुछ गलत जरूर है।

 

7.अन्य सोर्स का प्रयोग करें: घटना की सचाई जानने के लिए अन्य समाचार साइट्स या ऐप्स को देखें. अगर घटना सच्ची होगी तो संभव है कि अन्य जगह भी पोस्ट की गई होगी. जब किसी घटना की एक से अधिक जगह रिपोर्ट की जाती है तो उसके सच होने की संभावना बढ़ जाती है।

 

8.फॉरवर्ड करने से पहले सोचें: अगर आप संदेश के स्रोत को नहीं जानते या आपको लगता है कि संदेश में मौजूद जानकारी झूठी हो सकती है तो कृपया उसे अन्य लोगों को न भेजें।

 

9. तय कर लीजिए कि आप क्या देखना चाहते हैं: आप वॉट्सऐप पर किसी भी नंबर को ब्लॉक कर सकते हैं या किसी भी समूह को छोड़ सकते हैं.अपने व्हाट्सएप अनुभव पर अपना नियंत्रण रखने के लिए ऐसी विशेषताओं का प्रयोग करें।

 

10.झूठी खबरें अक्सर फैलती हैं: आप इस पर ध्यान न दें कि आपने संदेश को कितनी बार प्राप्त किया है.सिर्फ इसलिए कि संदेश कई बार साझा किया गया है, इसका मतलब यह नहीं है कि वह खबर सच्ची हो।

 

 

 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन