फेक खबरों पर लगाम कसने के लिए WhatsApp ने शुरू की खास फीचर की टैस्टिंग

  • फेक खबरों पर लगाम कसने के लिए WhatsApp ने शुरू की खास फीचर की टैस्टिंग
You Are HereLatest News
Sunday, July 8, 2018-6:13 PM

जालंधर- पिछले कुछ दिनों से व्हाट्सएप मैसेज की अफवाहों के चलते देश के कई हिस्‍सों में मॉब लिंचिंग जैसी कई घटनाएं सामने आई है, जिसमें लोगों से मारपीट की घटनाएं शामिल हैं। इसी को देखते हुए कंपनी एक नए फीचर पर काम कर रही है जिससे ये पता लगाया जा सकेगा कि जो भी लिंक शेयर किया जा रहा है, वह वैलिड सोर्स से आ रहा है या नहीं। इस नए फीचर का नाम 'सस्पिशियस लिंक डिटेक्शन' है। WABetaInfo के मुताबिक इसकी व्हाट्सएप एंड्रॉयड के बीटा वर्जन 2.18.204 पर टेस्टिंग की जा रही है।

 

PunjabKesari

 

एेसे करेगा काम 

सस्पिशियस लिंक डिटेक्शन फीचर के ज़रिए फेक न्यूज़ पहचानी जाएगी और अगर व्हाट्सएप को किसी भी लिंक पर संदेह होगा तो उसकी जानकारी वह अपने यूजर्स को देगा। वहीं अगर लिंक फेक या स्पैम होगा तो उसपर व्हाट्सएप की ओर से लाल रंग के फॉन्ट में suspicious link लिखा होगा जिससे यूजर आसानी से पढ़ सकेंगे। अगर इस लिंक को फिर भी यूजर क्लिक करके अोपन करते हैं तो उन्हें व्हाट्सएप अपनी ओर से सावधान करते हुए मैसेज देगा, ''"This link contains unusual characters. It may be trying to appear as another site."

 

PunjabKesari

 

'Forwarded' फीचर

अापको जानकारी के लिए बता दें कि व्हाट्सएप के बीटा वर्जन पर फेक खबरों को फैलने से रोकने के लिए एक और फीचर टेस्ट किया जा रहा है जिसमें अगर कोई मैसेज यूजर को फॉरवर्ड किया जाएगा तो उसपर 'Forwarded' लिखा रहेगा। अब देखना होगा कि फेक न्यूज को रोकने में कंपनी किस सीमा तक कामयाब हो पाती है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन