YouTube पर चलाई जा रही फेक व खतरनाक वीडियोज़

  • YouTube पर चलाई जा रही फेक व खतरनाक वीडियोज़
You Are HereTop Stories
Sunday, November 11, 2018-11:11 AM

- 60 प्रतिशत लोगों तक पहुंच रही गलत जानकारी

गैजेट डैस्क : यूट्यूब को लेकर अब एक ऐसी सनसनीखेज़ रिपोर्ट सामने आई है जिसे पढ़ कर आप चौंक जाएंगे। रिपोर्ट के मुताबिक व्यूज़ के चक्कर में YouTube के जरिए आप तक फेक और खतरनाक वीडियोज़ पहुंचाई जा रही हैं जिनमें से बहुत-सी वीडियोज़ में सच्चाई दूर-दूर तक दिखाई नहीं दे रही है। अमरीका के वाशिंगटन में स्थित Pew Research Center ने जानकारी देते हुए बताया है कि यूट्यूब पर बहुत-सी संख्या में फेक वीडियोज़ चलाई जा रही हैं। एक स्टडी के दौरान अमरीका के 4,594 एडल्ट लोगों पर सर्वे करने पर पता चला है कि सभी आयु के लोग यूट्यूब का उपयोग करते हैं और उस पर मौजूद सभी तरह की जानकारी को लेकर अपलोड हुई वीडियोज़ को देखते हैं व उन्हें सही समझते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि इनमें से ज्यादातर रिपोर्ट्स गलत थीं जो लोगों तक इस प्लेटफॉर्म के जरिए पहुंचाई जा रही थीं। 

PunjabKesari

बढ़ रही यूट्यूब की समस्या 

गलत वीडियोज़ को इस प्लेटफॉर्म के जरिए चलाने पर यूट्यूब की समस्या काफी बढ़ती दिखाई दे रही है क्योंकि अब लोग इसके जरिए ही खबरों आदि को भी देखते हैं, वहीं 53 प्रतिशत लोग वे हैं जो यह पता लगाने के लिए हमेशा उतावले रहते हैं कि साइट पर कुछ नया क्या है जो उन्हें मदद कर सकेगा। 

65 वर्षीय लोग भी उपयोग करते हैं यह प्लेटफॉर्म  

अमरीका में की गई इस रिसर्च में आधे से ज्यादा लोग 18 से लेकर 29 वर्ष के थे, वहीं 41 प्रतिशत लोगों की उम्र 65 वर्ष थी। यानी अमरीका में ज्यादा उम्र वाले लोगों में भी यूट्यूब अच्छी-खासी लोकप्रिय है और वे इसे रोजमर्रा की जिन्दगी में उपयोग करते हैं। 

PunjabKesari

15 प्रतिशत वीडियोज़ में कोई सच्चाई नहीं

यूट्यूब के जरिए बड़ी मात्रा में समस्याग्रस्त कन्टैंट को चलाया जा रहा है। प्यू रिसर्च सैंटर का कहना है कि 5 में से 3 वीडियोज़ में समस्या पाई गई है। वहीं 15 प्रतिशत वीडियोज़ में कोई सच्चाई नजर ही नहीं आती है। 

यूट्यूब ने दी प्रतिक्रिया

ऑनलाइन टैक्नोलॉजी न्यूज़ वैबसाइट एनगैजेट ने जब इस समस्या को लेकर यूट्यूब तक पहुंच बनाई तो यूट्यूब ने बताया कि वह इस समस्या से निपटने के लिए काम कर रही है ताकि कोई उसके रूल्स को फालो न करते हुए अगर वीडियोज़ को पोस्ट करें तो उसे रोका जा सके। उदाहरण देते हुए कम्पनी ने बताया कि उसने 2018 की पहली छमाही में 17 मिलियन वीडियोज़ को रिमूव किया है जो उसकी पालिसी पर खरी नहीं उतर रही थीं और वे लगातार इस पर ही काम कर रहे हैं।  

PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh