गूगल के Zoom एप पर बैन लगाने के बाद कम्पनी ने एक्स-फेसबुक सिक्योरिटी चीफ को किया हायर

  • गूगल के Zoom एप पर बैन लगाने के बाद कम्पनी ने एक्स-फेसबुक सिक्योरिटी चीफ को किया हायर
You Are HereGadgets
Thursday, April 9, 2020-8:52 PM

गैजेट डैस्क: गूगल ने सुरक्षा के मद्देनजर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग Zoom एप पर बैन लगा दिया है, जिसके बाद उलझन में पड़ी जूम वीडियो कम्यूनिकेशन्स सॉफ्टवेयर कम्पनी ने बड़ा निर्णय लिया है। जूम ने फेसबुक के फोर्मर सिक्योरिटी चीफ एलेक्स स्टामोस (Alex Stamos) को हायर किया है। एलेक्स अब कम्पनी में सेफ्टी और प्राइवेसी से जुड़े मुद्दों पर सलाहकार के रूप में काम करेंगे।

  • आपको बता दें कि बुधवार को गूगल ने अपने कर्मचारियों को कहा था कि अब वे जूम के डेस्कटॉप वर्जन को कॉर्पोरेट काम के लिए यूज नहीं कर सकते और इस पर बैन लगा दिया गया है। 

गूगल की सिक्योरिटी टीम ने कहा एप से डाटा को है खतरा

गूगल की सिक्योरिटी टीम ने बताया है कि जूम एप हमारे सुरक्षा मानकों पर खरा नहीं उतरी है। इससे हमारे महत्वपूर्ण डाटा को खतरा है। 

नासा और स्पेस एक्स भी हैं जूम एप के खिलाफ

नासा और स्पेस एक्स जैसी कंपनियों ने भी अपने कर्मचारियों को सुरक्षा के मद्देनजर जूम एप का इस्तेमाल करने से मना किया है। इसके अलावा स्पेस एक्स ने तो इस एप पर मुकदमा करने का भी सोच लिया है। 

ताइवान और जर्मनी में लगा जूम एप के उपयोग पर प्रतिबंध

कैलिफोर्निया के बर्कले हाई स्कूल (Berkeley High School) की एक प्रवक्ता ने कहा है कि वे कुछ दिनों के लिए इस एप को यूज ना करने की सलाह देती हैं। इस दौरान यह पता लग जाएगा कि यह एप लोगों के डाटा को किस तरह हैंडल कर रही है। इससे पहले ताइवान और जर्मनी में जूम एप के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। 

आखिर क्यों इतने विवादों में फंसी जूम एप

आपको बता दें कि कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते जूम एप की यूसेज में काफी बढ़ौतरी आई है। लोग इसी एप के जरिए घर पर बैठे वीडियो कॉन्फ्रैंसिंग के जरिए काम कर रहे हैं, लेकिन अब इस एप पर सभी प्रमुख कम्पनियों ने सवाल खड़ें कर दिए हैं। माना जा रहा है कि जूम एप में एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन फीचर नहीं दिया गया है जिस वजह से इस एप के जरिए मीटिंग करने से डाटा लीक हो सकता है और ये सेफ नहीं है। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Popular News