चीन का तुगलकी फरमान, बिना फेस स्कैन किए नहीं खरीद पाएंगे सिम

  • चीन का तुगलकी फरमान, बिना फेस स्कैन किए नहीं खरीद पाएंगे सिम
You Are HereGadgets
Monday, December 2, 2019-5:09 PM

गैजेट डैस्क: चीन की सरकार जितना अपने देश के नागरिको की निगरानी करती है शायद ही उतनी किसी अन्य देश के द्वारा उसके नागरिको की होती होगी। अन्य देशों में सिम कार्ड खरीदते समय लोगों को अपने पहचान पत्र की कॉपी को जमा करवाना पड़ता है, लेकिन अब चीन में सिम खरीदते समय अपनी पहचान साबित करने के लिए चेहरे को स्कैन करवाना अनिवार्य होगा।

  • कई वर्षों से चीन इस तरह के नियम को लागू करने की कोशिश में थी ताकि हर कोई अपनी असल पहचान के साथ इंटरनेट का इस्तेमाल करे।
  • नए नियम टेलीकॉम ऑपरेटर्स के लिए नियम उद्योग एवं सूचना तकनीक मंत्रालय ने तैयार किए हैं ताकि इंटरनैट का इस्तेमाल करते समय यूजर की पहचान की जा सके।

PunjabKesari

इस निर्णय का क्या लोगों पर होगा कोई असर

इस नियम को लाने की सबसे पहले घोषणा सितंबर में की गई थी। उस समय चीनी मीडिया द्वारा इस खबर पर कोई खास ध्यान नहीं दिया गया था, लेकिन सैकड़ों सोशल मीडिया यूज़र्स के डाटा को इकट्ठा करने को लेकर चिंता जरूर जाहिर की गई थी।

  • यूजर्स ने कहा था कि लोगों पर कड़ी से कड़ी निगाह रखी जा रही है। पता नहीं सरकार को किस बात का डर है। चीन में पहले से ही इंटरनैट कन्टैंट को लेकर नीतियां बनाई हुई हैं ताकि लोग वो न देख और बोल पाएं जो सरकार नहीं चाहती।

PunjabKesari

अपने ही लोगों को शक की निगाह से देखता है चीन

चीन को हमेशा से सबसे ज्यादा निगरानी करने वाला देश कहा जाता है। वर्ष 2017 में चीन में 17 करोड़ सीसीटीवी कैमरे लगाए जा चुके हैं। वहीं 2020 तक 40 करोड़ कैमरे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। चीन एक 'सोशल क्रेडिट' सिस्टम तैयार कर रही है जिसके डाटाबेस में सभी नागरिकों के आचरण और सार्वजनिक बातचीत का हिसाब रखा जाएगा।

  • बात की जाए निगरानी प्रणाली की तो इसमें चेहरे की पहचान की तकनीक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है और इससे भगोड़ों को पकड़ने में मदद मिल सकती है।

PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh