लीक हुई 10 लाख भारतीयों की एक्सरे और मेडिकल रिपोर्ट, जर्मन की फर्म ने उठाए सवाल

  • लीक हुई 10 लाख भारतीयों की एक्सरे और मेडिकल रिपोर्ट, जर्मन की फर्म ने उठाए सवाल
You Are HereGadgets
Wednesday, February 5, 2020-11:43 AM

गैजेट डैस्क: डेटा लीक को लेकर एक ऐसी खबर आई है जो आपको हैरत में डाल देगी। जर्मन की सिक्योरिटी फर्म ग्रीनबोन नेटवर्क्स ने दावा किया है कि करीब 10 लाख भारतीय मरीजों का डेटा लीक हुआ है जिनमें एक्सरे, सीटी स्कैन और डॉक्टर की रिपोर्ट आदि जानकारियां शामिल हैं।

  • इकोनॉमिक्स टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि इंटरनैट पर जो डेटा मौजूद था उसमें मरीज का नाम, जन्म तारीख, ई-मेल, अस्पताल का नाम और मरीज को देख रहे डॉक्टर का नाम आदि शामिल था। लीक हुए इस डेटा में मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल और उत्कर्ष स्कैन का डेटा भी मौजूद पाया गया है।

सर्वर पर सिक्योर नहीं था डेटा

आपको बता दें कि मेडिकल प्रैक्टिस के लिए एक खास तरह के फाइल फॉर्मेट का इस्तेमाल होता है जिसे डिजिटल इमेजिंग एंड कंम्यूनिकेशन इन मेडिसिंस (DICOM) कहा जाता है। इस फार्मेट का उपयोग मेडिकल से संबंधित फोटो शेयर और स्टोर करने के लिए होता है। 

  • DICOM फार्मेट की फाइल्स पिक्चर आर्काइविंग एंड कंम्यूनिकेशन सिस्टम (PACS) सर्वर पर स्टोर होती हैं। इस सर्वर पर मरीजों के रिपोर्ट की फोटोज बिना पासवर्ड मौजूद थी। रिपोर्ट में बताया गया है कि इसी सर्वर में सेंध लगी है, क्योंकि यह सर्वर सिक्योर नहीं था। 

ब्रीच कैंडी अस्पताल का बयान

इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद ब्रीच कैंडी अस्पताल ने जानकारी देते हुए बताया है कि मरीजों का डेटा एसएसएल सर्टिफिकेशन के साथ मौजूद है। वहीं अस्पताल के एक प्रवक्ता ने कहा कि लीक हुआ डेटा अस्पताल के सर्वर से चोरी नहीं हुआ है क्योंकि अस्पताल के सर्वर को बिना पासवर्ड के एक्सैस नहीं किया जा सकता। इसके अलावा उत्कर्ष स्कैन ने इस डेटा लीक के मामले पर कोई बयान नहीं दिया है। वहीं अभी फिलहाल इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम (CERT-In) ने भी कोई प्रतिक्रिया जारी नहीं की है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Latest News

Popular News