आपत्तिजनक संदेशों पर लगाम कसने की तैयारी में सरकार

  • आपत्तिजनक संदेशों पर लगाम कसने की तैयारी में सरकार
You Are HereGadgets
Friday, February 15, 2019-10:39 AM

- Whatsapp से मांग रही भारतीय यूजर्स की चैट्स का एक्सैस

गैजेट डैस्क : Whatsapp पर बढ़ रही फेक न्यूज़, घृणा व हिंसा फैलाने वाले संदेशों पर लगाम कसने के लिए भारत सरकार व्हाट्सएप से चैट्स का एक्सैस मांग रही है। वैसे तो व्हाट्सएप भी ऐसे मैसेजिस के बढ़ने को रोकने के लिए कदम उठा रही है, लेकिन सरकार अपने स्तर पर घृणा फैलाने वाले, हिंसा भड़काने वाले और पॉर्नोग्राफी से जुड़े मैसेजिस का पता लगा कर उन पर एक्शन लेना चाहती है। इसीलिए सरकार द्वारा व्हाट्सएप पर दबाव बढ़ रहा है। 

PunjabKesari

इस कारण व्हाट्सएप नहीं दे रही चैट्स का एक्सैस

आपको बता दें कि सबसे बड़ी समस्या व्हाट्सएप मैसेजिस का एनक्रिप्टेड होना है यानी कम्पनी के लोग भी इन्हें पढ़ नहीं सकते हैं। सरकार की मांग है कि संबंधित विभागों के अधिकारियों को प्राइवेट व्हाट्सएप मैसेजिस का एक्सैस दिया जाए, फिर चाहे मैसेज एनक्रिप्टेड ही क्यों न हो। वहीं इस पर व्हाट्सएप के स्पोक्सपर्सन कार्ल वूग का कहना है कि सरकार की ओर से की जा रही मांगें सीधे तौर पर कम्पनी की प्राइवेसी पॉलिसी का उल्लंघन करती हैं यानी एक्सैस देने से यूजर्स के चैट और मैसेजिस प्रोटैक्टिड नहीं रह जाएंगे।

  • मिनिस्ट्री ऑफ इलैक्ट्रॉनिक्स एंड आईटी के सीनियर अधिकारी गोपालाकृष्णन एस ने बताया है कि छह महीने से हम व्हाट्सएप से उनके प्लेटफॉर्म को विश्वसनीय और बेहतर बनाने को कह रहे हैं। अब तक कम्पनी ने क्या किया है? कोई भी अपराधी आराम से व्हाट्सएप का गलत एक्सैस कर सकता है इसलिए यह काफी खतरनाक है। 

 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh