अलर्ट : स्मार्टफोन के तेज म्यूजिक से हो रही बहरेपन की समस्या

  • अलर्ट : स्मार्टफोन के तेज म्यूजिक से हो रही बहरेपन की समस्या
You Are HereLatest News
Friday, February 15, 2019-10:16 AM

गैजेट डैस्क : अगर आप भी रोजमर्रा की जिंदगी में स्मार्टफोन से इयरफोन लगा कर तेज म्यूजिक सुनते हैं तो यह खबर आपके लिए बेहद खास है। अमरीकी हैल्थ एक्सपट्र्स ने चेतावनी देते हुए कहा है कि स्मार्टफोन से गाने सुनने व लगातार तेज आवाज के संपर्क में रहने के कारण एक अरब से ज्यादा लोगों को कम सुनाई देने का खतरा पैदा हो गया है। WHO की रिपोर्ट के मुताबिक 20 में से 1 से ज्यादा बच्चे तेज आवाज सुनने के कारण बहरेपन की समस्या से प्रभावित हो रहे हैं जिससे उनके जीवन स्तर पर काफी नकरात्मक प्रभाव पड़ रहा है। 

PunjabKesari

समस्या से ग्रस्त लोगों की आयु 12 से 35 वर्ष 

शैली चड्ढ़ा जो बहरेपन और कम सुनाई देने जैसी समस्याओं को रोकने की दिशा में WHO के लिए काम कर रहीं हैं ने कुछ जरूरी दिशा निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि 1 अरब लोगों को बहरेपन होने की समस्या पैदा हो गई है और वो भी ऐसी चीज से जिन्हें वे सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। इस समस्या से ग्रस्त लोगों की आयु 12 से 35 वर्ष के बीच है। 

PunjabKesari

इस तरह कर सकते हैं समस्या पर कन्ट्रोल

शैली चड्ढ़ा ने बताया है कि उंची आवाज में गाने सुनना बिलकुल वैसा ही है जैसा हाईवे पर बिना स्पीडोमीटर के कार चलाना। उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया है कि स्पीडोमीटर की तरह ही स्मार्टफोन्स में एक ऐसा सिस्टम होना चाहिए जो एक मइयरिंग सिस्टम हो और जो बताए कि आप ओवरलिमिट में साउंड सुन रहे हैं और आपको कितनी देर सुनना चाहिए। वहीं मोबाइल में ऑटोमैटिक वाल्यूम रिडक्शन की ऑप्शन भी होनी चाहिए जो आवाज तेज करने पर उसे अपने आप कम कर दे। 

  • WHO के डायरैक्टर जनरल टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस ने कहा है कि दुनिया भर में बहुत से युवा संगीत सुनने के दौरान अपनी सुनने की शक्ति को नुकसान पहुंचाते हैं। हमें जल्द ही टैक्नोलॉजी की मदद से इसका कोई उपाय सोचना होगा ताकि लोगों को बहरेपन की समस्या से बचाया जा सके। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Popular News