लांच हुआ साइकिल शेयरिंग एप्प मोबीसी

  • लांच हुआ साइकिल शेयरिंग एप्प मोबीसी
You Are HereLatest News
Thursday, December 07, 2017-4:14 PM

जालंधरः बढ़ते प्रदूषण और व्यस्त यातायात की समस्या का सामाधान निकालने के उद्देश्य से स्टार्टअप कंपनी मोबीसी ने साइकिल शेयरिंग ऐप लांच करने की घोषणा की है।  मोबीसी के सह-संस्थापक आकाश गुप्ता और राशि अग्रवाल ने इसे लांच करते हुये कहा कि उनके स्टार्टअप ने उपभोक्ताओं के लिए देश में अद्वितीय और अपनी तरह का पहला‘उबर साइकिल’मॉडल पेश किया गया है। मोबीसी ने एक एंजेल इन्वेस्टर से करीब पांच लाख डॉलर का सीड इन्वेस्टमेंट हासिल किया है। डॉकलेस साइकिल शेयरिंग ऐप मोबीसी अब एंड्रॉइड प्लेस्टोर पर शुरुआती प्रीव्यू के लिए उपलब्ध है। 

 

श्री गुप्ता ने कहा कि देश हरा-भरा और सेहतमंद साइकिङ्क्षलग राष्ट्र बनाने के उद्देश्य से यह स्टार्टअप शुरू किया गया है। मोबीसी के स्मार्ट बाइक कलेक्शन आईओटी लॉक और जीपीएस ट्रैकिंग से लैस है जिससे पार्किंग के लिए डॉक या स्टेशनों के बिना भी इसे संचालित किया जा सकता है। उपभोक्ता मोबीसी ऐप डाउनलोड कर आस-पास साइकिल तलाश कर सकते हैं और क्यूआर कोड से साइकिल को अनलॉक कर सकते हैं। लास्ट माइल कनेक्टिविटी की दिक्कतों को देखते हुए तीन से छह किलोमीटर की दूरी तय करने में मदद के लिए यह सेवा शुरू की जा रही है। 

 

उन्होंने कहा कि मोबीसी अपनी सेवा 5,000 साइकिलों के साथ शुरू कर रही है। अगले छह महीने में इनकी संख्या 50,000 तक करने का लक्ष्य है। यह साइकिलें दिल्ली-एनसीआर के दिल्ली नोएडा, गुडग़ांव और फरीदाबाद के साथ ही चंडीगढ़ भी शामिल हैं। अगले छह महीने में 12 और प्रमुख शहरों में तथा अगले वर्ष तक 20 से अधिक शहरों में विस्तार की योजना है।  ये साइकिल मेट्रो स्टेशन, बाजारों, नॉर्थ कै्म्पस जैसे भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों और गुडग़ांव के साइबर सिटी आदि में उपलब्ध होंगे। 

 

इसके अलावा, एमिटी नोएडा, एमडीआई गुडग़ांव और दिल्ली यूनिवर्सिटी आदि, जैसे कॉलेजों और यूनिवर्सिटियों के स्टूडेंट््स भी मोबीसी से स्मार्ट बाइक्स हायर कर सकेंगे। मोबीसी के मौजूदा मॉडल में लगभग एक रुपये प्रति घंटे या उससे कम दर पर डॉकलेस साइकिल उपलब्ध है। मासिक योजना के तहत प्रति दिन दो घंटे की सवारी के लिए 9 रुपये का भुगतान करना होगा। इसके अतिरिक्त उपभोक्ताओं को अपने आधार कार्ड का उपयोग करके साइन-अप करना होगा। 99 रुपये की सुरक्षा जमा राशि का भुगतान करना होगा जो रिफंडेबल है। छात्रों के लिए सिक्योरिटी डिपॉजिट 499 रुपये है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !