Facebook और Whatsapp पर हर दो भारतीयों में से एक को मिल रही झूठी खबर

  • Facebook और Whatsapp पर हर दो भारतीयों में से एक को मिल रही झूठी खबर
You Are HereLatest News
Thursday, April 11, 2019-2:09 PM

गैजेट डैस्क : फेसबुक द्वारा भारत में हर दिन 10 लाख फर्जी अकाउंट्स को हटाने के दावे के बाद एक सर्वे किया गया है जिसमें हैरान कर देने वाले रिजल्ट हाथ लगे हैं। सर्वे में खुलासा हुआ है कि बीते 30 दिनों में Facebook और Whatsapp पर हर दो भारतीयों में से एक को झूठी खबरें देखने को मिल रही है। इससे पता चलता है कि सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स को यूजर्स तक गलत जानकारी पहुंचाने के लिए इस्तेमाल में लाया जा रहा है। 

  • आपको बता दें कि इस सर्वे को ऑनलाइन स्टार्टअप कम्पनी सोशल मीडिया मैटर्स व नई दिल्ली के इंस्टिट्यूट फॉर गवर्नेंस पॉलिसीज ऐंड पॉलिटिक्स द्वारा अंजाम दिया गया है। सर्वे में पाया गया कि 53 फीसदी भारतीयों को अलग-अलग सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर चुनाव से संबंधित गलत सूचनाएं प्राप्त हुईं हैं। वहीं 62 फीसदी आबादी का मानना है कि लोकसभा चुनाव 2019 फेक न्यूज के प्रसार से प्रभावित हो सकता है। 

फेसबुक और व्हाट्सएप पर फैलाई जा रही गलत सूचनाएं 

सर्वे के मुताबिक फेसबुक और व्हाट्सएप गलत सूचना के प्रसार के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले प्रमुख मंच हैं। इस सर्वे से संकेत मिलता है कि 96 फीसदी सैंपल पॉप्युलेशन को व्हाट्सएप और फेसबुक के माध्यम से फेक न्यूज मिल रही हैं। इस सैंपल पॉप्युलेशन में 54 फीसदी बातचीत करने वाले वर्ग की आयु 18-25 वर्ष है। 

  • भारत में 11 अप्रैल यानी आज से शुरू हुए लोकसभा चुनाव में करीब 9.4 फीसदी पहली बार मतदाताओं की बढ़ोतरी देखी जाएगी, जो नई सरकार के गठन में निर्णायक होंगे। सर्वे में बताया गया कि लगभग 50 करोड़ मतदाताओं की इंटरनेट तक पहुंच है। जिससे झूठे समाचारों का चुनावों पर व्यापक प्रभाव पड़ सकता है। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh