डाटा प्राइवेसी मामले को लेकर Apple समेत इन कंपनियों पर कम्पलेंट दर्ज

  • डाटा प्राइवेसी मामले को लेकर Apple समेत इन कंपनियों पर कम्पलेंट दर्ज
You Are HereGadgets
Sunday, January 20, 2019-6:05 PM

गैजेट डेस्कः दुनिया की कुछ प्रमुख टेक कंपनियों पर डाटा प्राइवेसी मामले को लेकर कम्पलेंट दर्ज कराई गई है। इन कंपनियों में Apple, Amazon और Netflix के साथ कुल 8 टेक कंपनियां शामिल हैं। जानकारी के लिए बता दें कि इन कंपनियों पर आरोप है कि इन्होंने यूरोपियन यूनियन के जनरल डाटा प्रोटेक्शन रेग्युलेशन (GDPR) का उल्लंघन किया है। इन टेक कंपनियों पर मामला नोयब (noyb) नाम के एनजीओ ने दर्ज करवाया है, जिसके चेयरपर्सन डाटा प्राइवेसी एक्टिविस्ट मैक्स श्रेम्स (Max Schrems) हैं। जिन कंपनियों पर प्राइवेट डाटा सिक्योरिटी के उल्लंघन के आरोप में मामला दर्ज करवाया गया है, उनमें Spotify और YouTube भी शामिल हैं। 

PunjabKesariजनरल डाटा प्रोटेक्शन रेग्युलेशन ने डाटा प्रोटेक्शन के नियमों को तोड़ने वाली कंपनियों पर उनके रेवेन्यू का 4 पर्सेंट तक जुर्माना लगाया है। इसके जवाब में अमेजन ने कहा है कि उसने डाटा प्रोटेक्शन के लिए एक नया प्राइवेसी हेल्प पेज बनाया है, जिसमें बताया गया है कि कस्टमर्स कैसे अपने डाटा को मैनेज करें और उसकी गोपनीयता को बनाए रखें। वहीं, नोयब (noyb) का कहना है कि उसने 10 यूजर्स की तरफ से आस्ट्रियन अथॉरिटी के समक्ष मामला दर्ज कराया है। 

PunjabKesariएक्टिविस्ट मैक्स श्रेम्स का कहना है कि इन कंपनियों ने यूजर्स के अधिकारों का वॉयलेशन किया है और इन्होंने डाटा की सुरक्षा को सीरियसली नहीं लिया है। जानकारी के लिए बता दें कि मैक्स श्रेम्स बहुत ही जाने-माने डाटा प्राइवेसी कैम्पेनर हैं जिन्होंने पहली बार फेसबुक के खिलाफ पहला लीगल एक्शन 2011 में लिया था, जब वे स्टूडेंट थे। मैक्स श्रेम्स अब एक वकील हैं और पिछले साल उन्होंने गूगल, फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप के खिलाफ कानूनी मामला दर्ज करवाया था। उनका कहना था कि ये कंपनियां यूजर्स को गलत टर्म्स और कंडीशन्स स्वीकार करने के लिए बाध्य करती हैं, जिससे उनकी प्राइवेसी खतरे में पड़ जाती है।   

PunjabKesari

 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Jeevan

Latest News

Popular News