थर्ड पार्टी की मदद से अब आपके कंटेंट की होगी जांच !

  • थर्ड पार्टी की मदद से अब आपके कंटेंट की होगी जांच !
You Are HereLatest News
Friday, April 12, 2019-5:16 PM

नई दिल्लीः संदिग्ध कंटेंट को लकेर दिक्कतों का सामना कर रही फेसबुक ने नए टूल का एलान किया है जिसकी मदद से अब आपके कंटेंट की जांच होगी। गौरतलब है कि फेसबुक साल 2016 से ''रिमूव, रिड्यूस और इंफॉर्म'' वाली योजना का इस्तेमाल कर रहा है जिसकी मदद से उन कंटेंट को ज्यादा से ज्यादा फैलने से रोक दिया जाता है जो फेसबुक की नीतियों का उल्लंघन करती है। अब फेसबुक ने इसी को लेकर कुछ और अपडेट्स और अपनी रणनीति का एलान किया है। 

 फेसबुक ने इसका एलान कंपनी के वीपी ऑफ इंटीग्रिटी यानी की गाय रोजन और कंपनी के न्यूज फीड इंटीग्रिटी हेड टेसा लायंस की मौजूदगी में किया । फेसबुक ने कहा है कि वो अपने प्लेटफॉर्म पर मौजूद फेक न्यूज से लड़ना चाहता है और इसी को देखते हुए उसने कई देशों में थर्ड पार्टी फैक्ट चेकर्स के साथ साझेदारी की है जो निष्पक्षीय फैक्ट चेकिंग नेटवर्क से आते हैं और फेक न्यूज को पहचानने में मदद करते हैं।

नए अपडेट को हर महीने कर सकते ट्रैक
अपने कम्यूनिटी स्टैंडर्ड में फेसबुक ने एक नए सेक्शन को रोलआउट किया है जहां यूजर्स कंपनी के जरिए बनाए गए नए अपडेट को हर महीने ट्रैक कर सकते हैं वहीं फेसबुक ने भी ग्रुप्स के लिए नया ग्रुप क्वालिटी फीचर लॉन्च किया है। इसकी मदद से कई ऐसे कंटेंट को हटाया जाएगा जो कंपनी की नीतियों का उल्लंघन करते हैं। इसके लिए फेसबुक ग्रुप एडमिन्स को अधिकार दे रहा है जहां वो समुदाय मानक नीतियों के उत्तरदायी होंगे।

अच्छे बुरे कंटेट का चलेगा पता
किस पोस्ट को कितनी रीच मिलेगी फेसुबक इस पर भी काम कर रहा है। हर तरह के अच्छे और बुरे कंटेट पर भी नजर रखी जाएगी। इसके लिए फेसबुक ने बाहर के कुछ एक्सपर्ट्स की मदद लेने की योजना बनाई है। यहां थर्ड पार्टी फैक्ट चेकर्स की मदद ली जाएगी। ये फैक्ट चेकिंग प्रोग्राम में 45 सर्टिफाई फैक्ट चेकिंग पार्टनर्स मौजूद है जो 24 भाषाओं में कंटेंट के रिव्यू करेंगे। इन कंटेंट की पहुंच को रोकने के लिए फेसबुक ग्रुप्स के रीच को भी कम करने जा रहा है इसके लिए फेसबुक 'क्लिक गैप' सिग्नल का इस्तेमाल करने जा रहा है जहां आपको न्यूज फीड में वहीं खबरें सबसे ऊपर दिखेंगी जिनका कंटेंट काफी अच्छा होगा तो वहीं वो खबरें सबसे नीचें होंगी जिनका कंटेंट सबसे खराब होगा।

गलत मैसेजिस का होगा रिव्यू
फेसबुक न्यूज फीड कंटेक्स्ट बटन को इमेज के लिए एक्सपैंड कर रहा है जहां इसे भी थर्ड पार्टी फैक्ट चेकर्स के जरिए रिव्यू किया जाएगा वहीं न्यूज फीड कंटेक्स्ट बटन ट्रस्ट इंडिकेटर्स का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। इस फीचर को पिछले साल ही अप्रैल के महीने में लॉन्च किया जा चुका है यानी की अगर कोई गलत कंटेंट वाला इमेज है तो उसपर अब आपके पास ये मैसेज आ जाएगा कि ये गलत फोटो है और इसे फैक्ट चेकर्स के जरिए रिव्यू किया जा चुका है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Isha