Facebook को नहीं पता कैसे फोन निर्माता हैंडल कर रहे यूजर्स का डाटा

  • Facebook को नहीं पता कैसे फोन निर्माता हैंडल कर रहे यूजर्स का डाटा
You Are HereTop Stories
Tuesday, November 13, 2018-7:01 PM

गैजेट डैस्क : इस साल के शुरू में न्यूयॉर्क टाइम्स ने रिपोर्ट के जरिए बताया था कि फेसबुक ने फोन निर्माताओं को यूजर्स की निजी जानकारी को एक्सैस करने की पावर दी हुई है। इससे फोन निर्माता इसे आसानी से एक्सैस कर सकते हैं। खास तौर पर ऐसा इसलिए किया गया था ताकि लोग सोशल नैटवर्किंग के ज्यादा तर फीचर्स को एप के बिना भी उपयोग कर सकें। लेकिन अब यह बात पूरी तरह से सच लगने लगी है।

PunjabKesariडाटा को मॉनीटर करने में फेल हुई फेसबुक
एनगैजेट की नई रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक ने यूजर्स की निजी जानकारी को एक्सैस करने के लिए स्मार्टफोन निर्माताओं के साथ पार्टनशिप तो की हुई है लेकिन फेसबुक डाटा को मॉनीटर करने में फेल हो रही है यानी नजदीक से पता नहीं करती है कि स्मार्टफोन निर्माता कैसे यूजर्स का निजी डाटा यूज कर रहे हैं।

PunjabKesariअमरीकी सीनेटर ने किया दावा
अमरीका के सीनेटर रॉन वैडन (Senator Ron Wyden) ने स्टेटमेंट में दावा है कि फेसबुक ने डाटा शेयरिंग को लेकर स्मार्टफोन निर्माताओं के साथ पार्टनरशिप की हुई है, लेकिन कम्पनी कह रही है कि हमारी प्राइवेसी टॉप पर है। फेसबुक के अपने एडिटर्स को कहा है कि कम्पनी यह मानीटर ही नहीं करती कि स्मार्टफोन निर्माता अमरीकियों की पर्सनल निजी जानकारी के साथ क्या कर रहे हैं। लेकिन यह पता लगाना बहुत जरूरी है कि स्मार्टफोन निर्माता फेसबुक की अपनी पालसी पर खरे उतर रहे हैं या नहीं।

PunjabKesari50 टैक कम्पनियों के साथ शेयर कर चुकी डाटा
न्यूयॉर्क टाइम्स का कहना है कि कैम्ब्रेज एनलिटिका स्कैन्डल जबसे सामने आया है तो इसके बाद कम्पनी ने स्मार्टफोन निर्माताओं के साथ निजी जानकारी को एक्सैस करने वाले इस कार्यक्रम पर ध्यान देना बंद कर दिया है। इससे पहले सोशल नैटवर्क से यूजर की जानकारी को 50 टैक कम्पनियों के साथ शेयर किया गया है। इसमें कोई रहस्य की बात नही है कि अमरीका को अब इस टैक जाएंट पर भरोसा नही रहा है। वहीं लॉमेकर्स का भी कहना है कि कम्पनी की स्मार्टफोन निर्माताओ के साथ पार्टनशिप्स अब खतरे में है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Jeevan