इंटरनेट ट्रैफिक का मार्ग बदलने से Google की सेवाओं में आई रुकावट

  • इंटरनेट ट्रैफिक का मार्ग बदलने से Google की सेवाओं में आई रुकावट
You Are HereLatest News
Tuesday, November 13, 2018-7:03 PM

गैजेट डेस्क: इंटरनेट ट्रैफिक की दिशा में परिवर्तन की वजह से सोमवार को गूगल की सर्च एवं क्लाउड होस्टिंग समेत कई सेवाएं प्रभावित हो गईं। कुछ गूगल यूज़र्स ने बताया कि यूट्यूब जैसी कई गूगल सर्विसेस या तो बहुत ही धीरे चल रहीं थी या फिर बिल्कुल बंद पड़ीं थीं। इसके अलावा, सर्च और क्लाउड होस्टिंग जैसी सर्विस भी प्रभावित हुईं। जानकारी के मुताबिक, ये सभी सेवाएं करीब 2 घंटे तक बाधित रहीं और शाम करीब साढ़े पांच बजे (स्थानीय समयानुसार) जाकर चालू हो सकीं। गूगल ने सोमवार को नेटवर्क स्टेटस पेज पर बाधा आने की पुष्टि की, लेकिन कहा कि उसका मानना है कि इस परिवर्तन का कारण गूगल से बाहर का था।

PunjabKesari
इंटरनेट ट्रैफिक की दिशा में परिवर्तन

गूगल की सेवाओं तक पहुंचने वाले डाटा ट्रैफिक का मार्ग बदलकर रूस और चीन के नेटवर्कों से आने के कारण गूगल की कुछ सेवाएं बाधित हो गईं। इस मामले में रूसी और चीनी टेलिकॉम कंपनियों के अलावा एक नाइजीरियाई इंटरनेट प्रोवाइडर कंपनी का नाम सामने आया है।PunjabKesariकंपनी का बयान

कंपनी ने अपने ऑफिशियल पेज पर अपनी सर्विसेस में पैदा हुई बाधा के बारे में जानकारी दी थी। नेटवर्क इंटेलिजेंस कंपनी ThousandEyes के एक एग्जीक्यूटिव के अनुसार, यह हाइजैक बेहद बुरा था, जिसने गूगल को बेहद नुकसान पहुंचाया। 

PunjabKesariबॉर्डर गेटवे प्रोटोकॉल हाइजैकिंग

अापको बता दें कि बॉर्डर गेटवे प्रोटोकॉल हाइजैकिंग के तौर पर जानी जाने वाली इस प्रक्रिया के माध्यम से जरूरी सेवाओं को ऑफलाइन कर जासूसी और वित्तीय चोरी को अंजाम देने की कोशिश की जाती है। हालांकि, गूगल सेवाओं तक पहुंचने वाला 97 प्रतिशत नेटवर्क ट्रैफिक इनक्रिप्टेड है, जो दिशा परिवर्तन होने के बावजूद किसी तरह के खतरे से बचा रहता है।
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Jeevan