हैदराबाद एयरपोर्ट में शुरू हुई फेशियल रिकॉग्निशन तकनीक की टैस्टिंग

  • हैदराबाद एयरपोर्ट में शुरू हुई फेशियल रिकॉग्निशन तकनीक की टैस्टिंग
You Are HereGadgets
Saturday, March 30, 2019-1:28 PM

- कम समय में होगी यात्रियों की चैकिंग

गैजेट डैस्क : यात्रियों की सुविधा के लिए हैदराबाद एयरपोर्ट पर फेशियल रिकोग्निशन तकनीक की टैस्टिंग शुरू कर दी गई है। यह तकनीक हैदराबाद एयरपोर्ट पर यात्रियों के चेहरे को स्कैन कर उन्हें सफर करने की अनुमति देगी। इससे यात्रियों को एयरपोर्ट में कई जगाहों पर हो रहे आईडैंटटी चैक्स से गुजरने व बार-बार प्रूफ आदि को दिखाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। 

PunjabKesari

ID कार्ड दिखाने की परेशानी से मिलेगा छुटकारा

राजीव गांधी हैदराबाद इंटरनैशनल एयरपोर्ट ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर बताया है कि हैदराबाद में जल्द यात्रियों को टिकट्स और ID कार्डस को दिखाने की परेशानी से छुटकारा मिलेगा। फेशियल रिकोग्निशन तकनीक को यहां जल्द ही पूरी तरह से शुरू करने की जानकारी दी गई है, लेकिन फिलाहल इस पर टैस्टिंग की जा रही है और कर्मचारियों को इस तकनीक के उपयोग को लेकर ट्रेनिंग दी जा रही है। अथॉरिटीज़ का मानना है कि फेशियल रिकोग्निशन टैक्नोलॉजी बहुत तेजी से यात्रियों की चैकिंग करेगी और ऐसा अब तक कभी ना हुआ होगा। 

 

ऐसे काम करेगी यह तकनीक

फेशियल रिकोग्निशन सिस्टम को एयरपोर्ट में मौजूद मल्टीपल चैक प्वाइंट्स पर इंस्टाल्ड किया जाएगा। यानी इस तकनीक से लैस सिस्टम को एंट्री गेट, सिक्योरिटी चैक और एयरक्राफ्ट बोर्डिंग प्वाइंट पर लगाया जाएगा। इसके अलावा सैल्फ-बैग ड्रॉप और चैक-इन में भी यह तकनीक काफी सुविधा प्रदान करेगी। 

PunjabKesari

सुविधाजनक तरीके से होगी स्कैनिंग

सबसे पहले यात्री को रजिस्ट्रेशन के लिए kiosk के सामने आना होगा, जिसे टर्मिनल एंट्री पर लगाया गया होगा जो यात्री की फेस ID को रिजिस्टर करेगा और सरकार द्वारा इश्यू फोटो आईडेंटिफिकेशन प्रूफ की स्कैनिंग करेगा। इसके बाद यात्री को निर्धारित ई-गेट पर बोर्डिंग पास को स्कैन करना होगा जो यात्री के फेस के साथ पूरी जानकारी को मिला कर इसे वैरीफाई कर देगा। यह प्रक्रिया बहुत ही आसान होगी और इस दौरान यात्री का समय भी ज्यादा नहीं लगेगा। 

PunjabKesari

अन्य शहरों में भी शुरू होगी यह तकनीक

इस तकनीक के शुरू होने के बाद हैद्राबाद भारत का पहला ऐसा शहर बन जाएगा जहां यात्रियों की सहूलियत के लिए फेशियल रिकॉग्निशन तकनीक का उपयोग होगा। इसके अलावा अन्य एयरपोर्ट्स जैसे कि बेंगलुरु, कोलकाता, पुणे, वाराणसी और विजयवाड़ा भी इस तरह की तकनीक को इस साल के आखिर तक लागू करने की कोशिश में हैं। 

 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh