कानून का उल्लंघन होने पर जर्मनी ने उठाया अहम कदम, बैन किए अमेजान डैश बटन्स

  • कानून का उल्लंघन होने पर जर्मनी ने उठाया अहम कदम, बैन किए अमेजान डैश बटन्स
You Are HereGadgets
Saturday, January 12, 2019-5:23 PM

गैजेट डैस्क : कानून का उल्लंघन होने पर जर्मनी ने अहम कदम उठाते हुए अमेजान के प्रोडक्ट डैश बटन्स को बैन कर दिया है। कोर्ट का कहना है कि यह डिवाइस ई-कॉमर्स के लिए निर्धारित किए गए कानूनों का उल्लघन कर रही है जिस वजह से अब इस पर रोक लगा दी गई है। जर्मनी के शहर म्यूनिख की हाइयर रीजनल कोर्ट द्वारा इस फैंसले को सुनाया गया है जिसके बाद अब जर्मनी में इस अंगूठे के साइज के जितने प्रोडक्ट को उपयोग में नहीं लाया जा सकेगा। 

क्या है अमेजान डैश बटन

अमेजान डैश बटन एक छोटी सी डिवाइस है जो अमेजान के ग्राहकों को एक बटन दबाने से तुरंत प्रोडक्ट को री-ऑर्डर करने में मदद करती है। यह डिवाइस अलग-अलग प्रोडक्ट को रीआर्डर करने के लिए अलग-अलग बनाई गई हैं। इसकी पहचान प्रोडक्ट के स्टीकर से की जा सकती है। ब्रिटिश की टैक्नोलॉजी न्यूज़ वैबसाइट द रजिस्टर के मुताबिक कुछ लोगों को यह पहले से ही पसंद नहीं थी वहीं अमेजान लवर्स इसका उपयोग कर रहे थे। 

PunjabKesari

इस कारण लगी उपयोग पर रोक

रिपोर्ट के मुताबिक यह बटन्स प्रोडक्ट को आर्डर तो कर देते थे लेकिन इनकी कीमत के बारे में खरीदार को पता ही नहीं चल पाता था। सिर्फ बटन को प्रैस करने पर सामान री-आर्डर हो जाता था भले ही कीमत कोई भी हो। 

जर्मनी का सख्त कानून

जर्मनी के ई-कॉमर्स कानून के मुताबिक कम्पनी को अपना प्रोडक्ट बेचने से पहले उसको लेकर जानकारी देनी होगी और यह भी बताना होगा कि खरीदारी के समय उस प्रोडक्ट की कीमत कितनी है। डैश बटन में कोई स्क्रीन नहीं दी गई है और इसे दबाने से सीधे ही प्रोडक्ट री-आर्डर हो जाता है यही वजह है कि इस पर जर्मनी के कानून ने प्रतिबंध लगा दिया है। 

PunjabKesari

इस फैंसले से नाखुश अमेजान

म्यूनिख की हाइयर रीजनल कोर्ट के इस फैंसले से अमेजान नाखुश है। यहां तक की कम्पनी ने एक प्रैस रिलीज में बताया है कि अदालत उनकी अपील को सुनने से ही इंकार कर देगी और ऐसा होना निश्चित है। 

वर्ष 2015 में लाई थी डिवाइस

आपकों बता दें कि इस अंगूठे के साइज जितनी डैश बटन डिवाइस को वर्ष 2015 में लाया गया था। जो अमेजान की प्राइम मैम्बरशिप स्कीम के जरिए प्रोडक्ट्स जैसेकि डिटर्जेंट और काफी आदि को wifi-इंटरनैट की मदद से रीआर्डर करने के काम आती थी। लेकिन अब इस पर बैन लगने पर जर्मनी में इसका उपयोग नहीं किया जा सकेगा। 

PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Popular News