डाटा प्राइवेसी लीक को लेकर गूगल सीईओ सुन्दर पिचाई ने किया आश्वस्त

  • डाटा प्राइवेसी लीक को लेकर गूगल सीईओ सुन्दर पिचाई ने किया आश्वस्त
You Are HereTop Stories
Sunday, July 28, 2019-7:08 PM

गैजेट डेस्क : दुनिया की टॉप टेक कंपनियों पर डाटा प्राइवेसी लीक के आरोपों के बीच गूगल के सीईओ सुन्दर पिचाई ने एक अहम बयान दिया है। उन्होंने डाटा प्राइवेसी को लेकर सभी गूगल यूज़र्स को आश्वस्त किया है। गुरूवार को आयोजित कंपनी की क्वार्टर 2 अर्निंग कांफ्रेंस कॉल के दौरान सुन्दर पिचाई ने यूज़र प्राइवेसी लीक और डाटा कण्ट्रोल पर हो रही चिंताओं पर अपनी बात रखी। 

 

गूगल सीईओ ने बताया कंपनी क्या करेगी 


PunjabKesari

गूगल सीईओ सुन्दर पिचाई ने इस मुद्दे पर अपनी बात रखते हुए कहा कि गूगल प्राइवेसी कंट्रोल्स को आसानी से एक्सेसिबल बनाने पर काम कर रहा है। इसके अंतगर्त क्रोम वेब ब्राउज़र के इग्निटो मोड से लेकर गूगल मैप्स को एक्सपैंड करने पर काम चल रहा है। इसके साथ ही इनमें ऑटो-डिलीट कंट्रोल्स का फीचर भी जोड़ा जायेगा।  

पिचाई  ने कहा, " गूगल उपयोगकर्ता को अपने डेटा का उपयोग करने , बेहतर नियंत्रण देने और मैनेज करने के लिए उपयोगकर्ता की समझ को सरल बना रहा है।" उन्होंने आगे कहा कि -"उदाहरण के तौर पर हमने आर्टीशियल इंटेलिजेंस मॉडल्स को समझने के लिए "फ़ेडरल लर्निंग" नाम की एक तकनीक को डेवेलप किया है जो AI मॉडल्स को प्रशिक्षित करने और आपके डिवाइस के रॉ डाटा को निकाले बिना उसे स्मार्ट बनाने में मदद करता है। 

 

अप्रैल में बंद करना पड़ा था गूगल +

PunjabKesari

सुन्दर पिचाई का यह बयान ऐसे समय में समय आया है जब पिछले हफ्ते गूगल को इग्निटो मोड में ब्राउज़ करने के दौरान भी उपयोगकर्ताओं की देखने की आदतों की जानकारी थर्ड पार्टी संस्थाओ को एक्सेस करने देने को लेकर तीखी आलोचना का सामना करना पड़ा था। 

बता दें कि इसी वर्ष अप्रैल के महीने  में डाटा प्राइवेसी लीक के लगातार 2 मामलो के बाद गूगल ने अपना गूगल + प्लेटफार्म शटडाउन कर दिया था। कंपनी ने अपने ब्लॉग में स्वीकारा था कि गूगल + में आये हैकिंग बग के कारण दुनिया भर के 52.5 मिलियन लोग प्रभावित हुए थे। गूगल ने ब्राज़ील , इंडिया और इंडोनेशिया के संभावित  अगले 1 अरब यूज़र्स के लिए नई टेक्नोलॉजी फ्रेमवर्क पर काम करना शुरू कर दिया है।   


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Harsh Pandey