गूगल क्रोम ने 10 वर्षों में ऐसे बदली वेब ब्राउज़िंग की दुनिया

  • गूगल क्रोम ने 10 वर्षों में ऐसे बदली वेब ब्राउज़िंग की दुनिया
You Are HereTop Stories
Monday, September 3, 2018-10:49 AM

गैजेट डैस्क : आज से करीब 10 वर्ष पहले 2 सितंबर 2008 को गूगल ने अपने क्रोम ब्राउज़र को पहली बार दुनिया के सामने लॉन्च किया था। उस समय कम्पनी ने इसका टाइटल रखा था 'A fresh take on the browser'। इस ब्लॉग पोस्ट को सुंदर पिचाई ने पोस्ट किया था जो उस समय कंपनी के प्रॉडक्ट मैनेजमेंट के वाइस प्रेजिडेंट थे।

- गूगल क्रोम के आने से पहले माइक्रोसॉफ्ट इंटरनैट एक्सप्लोरर, मोज़िला फायरफॉक्स और एप्पल का सफारी ब्राउज़र ही ज्यादा लोकप्रीय था लेकिन इसके आने के बाद वेब ब्राउज़िंग की दुनिया में काफी कुछ बदल गया। समय के साथ-साथ गूगल क्रोम और बेहतर बनता चला गया और इसने इन 10 वर्षों में अपने यूजर्स के एक्सपीरिएंस को काफी बेहतर बना दिया। 

10 वर्षों में काफी बदल गया क्रोम ब्राउज़र

बेहतर यूजर इंटरफेस 
गूगल क्रोम को जब पहली बार लाया गया था तो इसका इंटरफेस सबसे आसान था यानी इसका उपयोग करना काफी सरल था। समय के साथ-साथ इसके इंटरफेस को बेहतर बनाया गया व इसमें क्रोम एक्सटेंशन जैसे फीचर्स शामिल किए गए जिससे इसका उपयोग करना लोगों ने और भी बढ़ा दिया। सबसे अच्छी बात जो लोगों को लगी वो यह थी कि इसे ओपन करते समय गूगल का सर्च पेज सामने आता है जिससे सर्च करने में काफी आसानी होती है।

नए ऑप्शन्स
गूगल ने क्रोम में समय के साथ-साथ कई फीचर्स को शामिल किया है। इनमें से सबसे ज्यादा Ad blockers फीचर का उपयोग यूजर्स करते हैं जो विज्ञापनों को वैब पेज पर शो होने से बंद करने में यूजर की मदद करता है। 

फास्ट स्पीड
गूगल क्रोम पहले से ही अन्य ब्राउजर्स से फास्ट स्पीड देता आया है और यह अन्य के मुकाबले काफी तेज़ चलता है। माइक्रोसॉफ्ट एक्सप्लोरर की तुलना में यह 56 प्रतिशत तेज़ काम करता है वहीं फायरफॉक्स और सफारी की तुलना में 10 गुना तेज़ चलता है। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh