आपके बारे में सबकुछ जानता है Google, ऐसे रखी जाती है हर वक्त आप पर नजर

  • आपके बारे में सबकुछ जानता है Google, ऐसे रखी जाती है हर वक्त आप पर नजर
You Are HereLatest News
Wednesday, April 3, 2019-5:12 PM

गैजेट डेस्कः हमारे आसपास गूगल का जाल बिछा हुआ है। ये सुनकर शायद आपको थोड़ी हैरानी होगी पर ये सच है। हन जिन जगहों पर जाते हैं, उसकी लोकेशन के मेसेज भी आपके मोबाइल में आते रहते हैं। क्या कभी आपने सोचा है कि ऐसा कैसे होता है। असल में यह सब Google का खेल है। मैप्स से लेकर YouTube तक गूगल के प्रॉडक्ट्स के बिना एक दिन गुजरना लगभग असंभव है। गूगल के पास आपसे जुड़ी हर जानकारी है। Google दो तरीकों से आपका डेटा कलेक्ट करता है। गूगल को ऑनलाइन और असल दुनिया में आपके व्यवहार के बारे में पता होता है।

PunjabKesari
ऐसे क्लैक्ट करता है Google डाटा

ऐक्टिव कलेक्शन- Gmail के लिए साइन अप करने या सर्च करने में अपनी पर्सनल जानकारियां उपलब्ध करवानी होती है। पैसिव कलेक्शन- इसमें कई बार यूजर की जानकारी के बिना उसका डेटा कलेक्ट किया जाता है। यह डेटा मोबाइल के बैकग्राउंड में चलने वाले ऐप्स, गूगल के ऐडवर्टाइजिंग टूल्स और इसके ऑपरेटिंग सिस्टम Android के जरिए जुटाया जाता है। दुनिया भर में करोड़ों लोग हर दिन गूगल के प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं। Google न केवल आपके यूजर एक्सपीरियंस को पर्सनलाइज करता है, बल्कि आपकी गतिविधियों और दिलचस्पी से जुड़े डेटा पर आधारित टारगेटेड ऐड से मोटी कमाई करता है।
 

एक दिन में आपके बारे में क्या-क्या जानता है
Google मान लीजिए आप ऑफिस जाने के लिए करीबी मेट्रो स्टेशन जाते हैं। रास्ते में आप मोबाइल में खबरें पढ़ते हैं और म्यूजिक सुनते हैं। Google Maps आपकी लोकेशन को ट्रैक करता है। GPS आपके IP एड्रेस के साथ कोर्डिनेट करता है। यह आपको ट्रैक करने के लिए करीब के सेल टावर्स और Wi-Fi एक्सेस पॉइंट का भी इस्तेमाल कर सकता है।
PunjabKesari
सर्च हिस्ट्री भी होती है रिकॉर्ड
गूगल आपकी सर्च हिस्ट्री को रिकॉर्ड करता है और आपकी दिलचस्पी का पता लगाता है और विज्ञापनों के साथ उसी हिसाब का कंटेंट (खबरें) आपको उपलब्ध कराता है। गूगल सर्च की तरह म्यूजिक ऐप इस चीज को रिकॉर्ड करता है कि आप किस तरह का म्यूजिक सुनते हैं और उसी हिसाब से आपका प्रोफाइल बनाता है और आपको टारगेटेड ऐड भेजता है।
PunjabKesari
इन चीजों का भी डेटा कलेक्ट करता है गूगल
लोकेशन का डेटा
गूगल आपके बारे में इतना डेटा जुटा लेता है कि यह आपको बताता है कि आप वॉक कर रहे हैं, दौड़ रहे हैं या किसी गाड़ी में चल रहे हैं।
क्रेडिट और डेबिट कार्ड के डीटेल्स
Google Pay के पास न केवल आपके क्रेडिट और डेबिट कार्ड के डीटेल्स होते हैं, बल्कि आपने क्या प्रॉडक्ट खरीदा है इसका डेटा भी गूगल पे के पास रहता है। गूगल पे यह डेटा भी अपने पास रखता है कि आपने कितनी बार कोई प्रॉडक्ट खरीदा है।
YouTube विडियो
यह विडियो प्लेटफॉर्म इस बात को रिकॉर्ड करता है कि आप किस तरह के विडियो देखते हैं। साथ ही, आप विडियो कहां और कब देखते हैं। अगर आप YouTube के विडियो को नॉन-गूगल वेबसाइट पर देखते हैं तो यह आपको ट्रैक करता है। गूगल की डेटा कलेक्शन मुहिम में Android और क्रोम अहम प्लेटफॉर्म है। नॉन-गूगल ऑपरेटिंग सिस्टम पर भी गूगल की पहुंच आपके डेटा तक रहती है।इसके इलावा ऐंड्रॉयड डिवाइस पर अगर आप थर्ड-पार्टी ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं तो भी गूगल के पास इसकी जानकारी होती है।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Isha