IIT मद्रास के प्रोफेसर का दावा : व्हाट्सएप कर सकता है मैसेज का ओरिजिन ट्रेस

  • IIT मद्रास के प्रोफेसर का दावा : व्हाट्सएप कर सकता है मैसेज का ओरिजिन ट्रेस
You Are HereLatest News
Thursday, August 8, 2019-1:19 PM

गैजेट डेस्क : इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मद्रास के प्रोफेसर वी कमाकोटि ने मद्रास हाईकोर्ट में अपनी सुझावों की रिपोर्ट जमा की। इस रिपोर्ट में उन्होंने दावा किया है कि फेसबुक के स्वामित्व वाला मेस्सजिंग व्हाट्सएप मैसेज का ओरिजिन ट्रेस कर सकता है यदि वह सेन्डर का कंटेंट उसकी जानकारी के साथ ऐप के एन्क्रिप्टेड प्लेटफार्म पर एम्बेड कर दिया जाए। 


 

अपनी रिपोर्ट में प्रोफेसर वी कमाकोटि के दो सुझाव 

 

PunjabKesari

 

31 जुलाई को जमा की गई अपनी रिपोर्ट में मद्रास आईआईटी के प्रोफेसर वी कमाकोटि ने दो सुझावों को बयान किया जिसका इस्तेमाल कर व्हाट्सएप अपने मैसेज के ओरिजिन को ट्रेस कर सकता है। पहले सुझाव के अनुसार व्हाट्सएप यह ओपन और विज़िबल फॉर्मेट में कर सकता है तो वहीँ दूसरे सुझाव के अनुसार यह एन्क्रिप्टेड फॉर्मेट में किया जा सकता है। 


प्रधानमंत्री कार्यालय के नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजरी बोर्ड के सदस्य प्रोफेसर वी कमाकोटि ने कहा कि हमने व्हाट्सएप को दो सटीक उपायों से अवगत करवा दिया है लेकिन उनके पास यह करने के अपने मेथॅड हो सकते है।

 

बता दें कि 24 जुलाई को हाईकोर्ट ने प्रोफेसर कमाकोटि ने इस मुद्दे पर अपनी रिपोर्ट जमा करने का निर्देश दिया था जिसमें व्हाट्सएप द्वारा मैसेज ओरिजिन ट्रेसिंग की तकीनीकी संभावनाओं का ज़िक्र होगा। अब देखना दिलचस्प होगा कि व्हाट्सएप अपनी तरकीब लेकर आता है या प्रोफेसर कमाकोटि की बात मानता है।  
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Harsh Pandey