यूज़र की जानकारी जुटा रहीं भारतीय एप्स

  • यूज़र की जानकारी जुटा रहीं भारतीय एप्स
You Are HereGadgets
Saturday, December 8, 2018-11:07 AM

गैजेट डैस्क : कुछ भारतीय टॉप स्मार्टफोन एप्स का पता लगाया गया है जो ग्लोबल मार्कीट से 45 प्रतिशत तक ज्यादा एप्प परमिशंस का एक्सैस ले रही हैं, इनके अलावा इन एप्स के द्वारा अधिक डाटा के उपयोग होने की भी जानकारी है। इस मुद्दे को लेकर साइबर सिक्योरिटी और डाटा प्राइवेसी प्लेटफॉर्म Arrka Consulting ने एक साल तक स्टडी कर एक रिपोर्ट जारी की है। इसमें लिखा है कि यह एप्स ज्यादा डाटा थर्ड पार्टी कम्पनियों के साथ शेयर करती हैं, इनमें दो प्रमुख कम्पनियां गूगल और फेसबुक हैं। 

PunjabKesari

8 परमिशंस ले रहीं एप्स

भारत में स्मार्टफोन्स की संख्या बढ़ने से व डाटा के सस्ते होने से लोग एप्स का उपयोग काफी मात्रा में करते हैं लेकिन इनकी सैटिंग्स को थर्ड पार्टी कम्पनियां भी एक्सैस कर रही हैं। इंडियन एप्स को ओपन करते समय यूज़र से SMS, माइक्रोफोन, कैमरा, कॉन्टैक्ट और काल लॉग जैसी 8 परमिशंस ली जाती हैं जिनके बाद ही एप्प ओपन होती है। 

PunjabKesari

100 इंडियन एप्स पर किया गया टैस्ट

इस दौरान 100 इंडियन एप्स पर टैस्ट किया गया जिनकी एप्प परमिशन को ग्लोबली उपलब्ध 50 एंड्रॉयड एप्स के साथ कम्पैरिजन किया गया। इस दौरान प्राइवेसी, टैक्नीकल पैरामीटर्स व परमिशन सैटिंग्स को टैस्ट किया गया जिसमें पता चला कि ट्रैवल व शॉपिंग जैसी एप्स ग्लोबल मार्कीट से 1.5 से 3 गुना ज्यादा यूज़र परमीशंस को एक्सैस कर रही हैं। 

PunjabKesari

यूजर की प्राइवेसी को खतरा

यूज़र से प्राइवेसी एक्सैस लेने के बाद आपकी जानकारी को कलैक्ट किया जाता है। इस स्टडी से पता लगा है कि यूज़र के डाटा कलैक्शन को लेकर प्राइवेसी की चिन्ता करते हुए कदम उठाने की जरूरत है कि आखिर क्यों भारतीय एप्स ज्यादा डाटा कलैक्ट कर रही हैं। क्योंकि इनमें से लगभग 99 प्रतिशत एप्स यूजर्स के एडवटाईजिंग और एनालैटिक के डाटा को एक से ज्यादा थर्ड पार्टी कम्पनियों के साथ शेयर कर रही हैं। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Popular News