iPhone 12 के कुल कंपोनेंट्स का खर्च केवल 27,500 रुपये, रिपोर्ट से हुआ खुलासा

  • iPhone 12 के कुल कंपोनेंट्स का खर्च केवल 27,500 रुपये, रिपोर्ट से हुआ खुलासा
You Are HereGadgets
Sunday, November 29, 2020-1:47 PM

गैजेट डैस्क: एप्पल ने पिछले महीने ही iPhone 12 सीरीज़ को लॉन्च किया है। इस सीरीज़ के तहत कंपनी ने चार नए आईफोन्स (आईफोन 12 मिनी, आईफोन 12, आईफोन 12 प्रो और आईफोन 12 प्रो मैक्स) स्मार्टफोन बाजार में उतारे हैं। अब नए आईफोन्स को तैयार करने में कितना खर्च आता है इसकी डिटेल्स सामने आ गई हैं।

91mobiles ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि iPhone 12 के 64GB वेरिएंट के कुल कंपोनेंट्स की कीमत $373 है जोकि लगभग 27,500 रुपये बनती है, लेकिन यह वेरिएंट भारत में 79,900 रुपये में बिक रहा है, वहीं iPhone 12 Pro को बनाने में 406 डॉलर (करीब 30,000 रुपये) का ही खर्च आता है।

आईफोन 12 और आईफोन 12 प्रो के बिल ऑफ मेटीरियल्स (BoM) का खुलासा दैनिक प्रकाशन Nikkei ने टोक्यो बेस्ड रिसर्च स्पेशलिस्ट Fomalhaut Techno Solutions के साथ मिलकर किया है। रिपोर्ट में बताया गया कि, "डिवाइस में लगाए गए सभी कॉम्पोंनेट्स पर कुल खर्च का पता उसके बिल ऑफ मटीरियल्स से आसानी से चल जाता है।"

आईफोन के ये पार्ट्स हैं महंगे

रिपोर्ट में बताया गया कि आईफोन 12 और आईफोन 12 प्रो के सबसे महंगे पार्ट इनमें लगाए गए Qualcomm X55 5G मॉडेम और सैमसंग की ओर से मैन्युफैक्चर की गई OLED डिस्प्ले है। इसके अलावा Sony के कैमरा सेंसर्स और A14 Bionic चिप की कॉस्ट भी काफी ज्यादा है।

क्वालकॉम के प्रोसेसर की कीमत करीब 90 डॉलर (लगभग 6,600 रुपये) और OLED डिस्प्ले की कॉस्ट लगभग 70 डॉलर (करीब 5,200 रुपये) बताई गई है। इसके अलावा फ्लैश मैमोरी की कीमत $19.2 (लगभग 1,420 रुपये) और सोनी के कैमरे की कीमत $7.9 (लगभग 584 रुपये) बताई गई है। रिपोर्ट में कहा गया कि, "नए कंपोनेंट्स को जगह देने के लिए iPhone 12 की बैटरी कैपेसिटी को 10 प्रतिशत कम किया गया है।"

इसलिए बढ़ती है आईफोन की कीमत

आईफोन 12 सीरीज़ को बनाने के लिए अलग-अलग देशों से कई कंपोनेंट्स आते हैं। आईफोन के कंपोनेंट्स बनाने में 26.8 प्रतिशत शेयर साउथ कोरिया का है और इसके अलावा US और यूरोप से 21.9 प्रतिशत पार्ट्स आते हैं।

चीन से 5 प्रतिशत पार्ट्स का उपयोग आईफोन बनाने में होता है। इसके अलावा जापान से 13.6 प्रतिशत और ताइवान से 11.1 प्रतिशत कंपोनेंट्स की सप्लाई आईफोन बनाने में की जाती है। बताते चलें, फाइनल प्रोडक्ट मार्केट में आने पर कंपनी के प्रॉफिट के अलावा कई तरह के टैक्स और इंपोर्ट ड्यूटी भी उसकी कीमत को काफी बढ़ा देती हैं।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh

Latest News

Popular News