इंसानी शरीर में वायरस का पता लगाएगा अब स्मार्टफोन

  • इंसानी शरीर में वायरस का पता लगाएगा अब स्मार्टफोन
You Are HereTop Stories
Thursday, August 1, 2019-5:44 PM

गैजेट डैस्क : रोगी के शरीर में मौजूद वायरस का पता लगाने के लिए भारी और महंगे उपकरण जैसे कि फ्लोरोसेंस माइक्रोस्कोप आदि का उपयोग होता है, लेकिन यह काफी भारी और महंगे होते हैं जिस वजह से रिमोट एरियास में इनकी पहुंच बहुत कम है। इसी लिए अब वैज्ञानिकों ने एक सस्ते स्मार्टफोन से कनैक्ट होने वाले गैजेट को डिवैल्प किया है जो इंसानी जैविक तरल पदार्थ के नमूने से पता लगा लेगा कि रोगी वायरस की चपेट में है। यानी स्मार्टफोन से आसानी से तेज बुखार, नाक बहने, गले में खराश, मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द, खांसी, छींक आना और थकान आदि महसूस होने पर यह सुनिश्चित किया जा सकेगा कि व्यक्ति बीमार है।

PunjabKesari

मिनटों में सामने आएंगे रिजल्ट्स

बैटरी की मदद से काम करने वाले इस गैजेट को यूनिवर्सिटी ऑफ टोकियो के वैज्ञानिकों ने डिवैल्प किया है। इसकी निर्माता टीम को लीड कर रहे प्रोफैसर योशीहिरो मिनगावा ने बताया है कि इस डिवाइस का आकार ईंट के जितना है। इसमें एक मैगनीफाइंग लैंस लगा है जिसके उपर स्मार्टफोन का कैमरा फिट हो जाता है। इस डिवाइस के नीचे की ओर एक ट्रे दी गई है जिसमें रोगी के जैविक तरल पदार्थ की थोड़ी बूंदें रखी जाती हैं। इसके बाद डिवाइस में लगी LED लाइट कई बार जगती व बुझती है। इससे स्मार्टफोन एप्प पर चमकीले धब्बे के रुप में वायरस उभर आता है।  

PunjabKesari

60 प्रतिशत मिले सही रिजल्ट्स

इस डिवाइस पर टैस्ट करने पर influenza virus का पता लगाया गया है और इस दौरान 60 प्रतिशत सही रिजल्ट्स हाथ लगे हैं। प्रोफैसर योशीहिरो मिनगावा ने दावा किया है कि इतना यह पता लगाने में कि रोगी को फ्लू हो गया है काफी है। खुशी की बात यह है कि इस दौरान माइक्रोस्कोप से भी पहले रिजल्ट हाथ लगे हैं। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh